चुनाव आयोग से मिले भाजपा नेता, अमित शाह की FIR रद्द करने की मांग

चुनाव आयोग से मिले भाजपा नेता, अमित शाह की FIR रद्द करने की मांग

नई दिल्ली : अमित शाह द्वारा लालू प्रसाद पर चारा चोर टिप्पणी करने पर दर्ज हुई FIR को भाजपा ने चुनाव आयोग से कहा कि प्राथमिकी तुरंत वापस ली जाये. साथ ही भाजपा ने मांग की है की राज्य सरकार के दबाव में काम करने वाले अधिकारियों के खिलाफ कार्यवाही की जाएं. भाजपा का मतलब लालू एवं MIMIM प्रमुख असादुद्दीन ओवैसी द्वारा जो विवादित भाषण दिए गए है उनके खिलाफ कठोर कार्रवाई की मांग की है.

नायडु ने आयोग से मिलने के बाद मिडिया से कहा की राज्य सरकार ने एक राष्ट्रीय पार्टी के अध्यक्ष के विरुद्ध प्राथमिकी दर्ज कराई है. यह बहुत आपत्तिजनक है. हमने चुनाव आयोग से मांग की है की वह जल्द ही इसकी जांच करवाये और यह प्राथमिकी वापस कराएं. उन्होंने कहा हमने चुनाव आयोग से यह भी कहा कि राज्य सरकार के दबाव में काम करने वाले सभी अधिकारियों के कदमों की जांच होनी चाहिए. हमने उनके विरुद्ध कार्रवाई की मांग की है. भाजपा को मुख्य चुनाव आयुक्त एवं चुनाव आयुक्तों ने आश्वासन दिया कि वह इस मामले की जांच करवाएंगे.

नायडू ने कहा कि शाह ने चारा चोर कहकर सामान्य बात कही तथा केवल उसी का जिक्र है जो अदालत ने किया. उन्होंने कुछ अलग बात नहीं कही है. लालू दोषी है तथा यह एक सत्य और अदालती फैसला है. भाजपा ने खा की प्रति दिन हमारी पार्टी, हमारे नेताओं, प्रधानमंत्री, आदि के विरोध बयान दिये जाते हैं तथा उनके खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं होती.