BJP का कांग्रेस पर पलटवार, एक ही परिवार को नहीं मिल सकते सभी सम्मान

Sep 17 2015 11:20 AM
BJP का कांग्रेस पर पलटवार, एक ही परिवार को नहीं मिल सकते सभी सम्मान

नई दिल्ली : इंदिरा गांधी और राजीव गांधी पर जारी किए गए डाक टिकट बंद किए जाने के फैसले पर विवाद थमने का नाम ही नहीं ले रहा है. इस मामले पर सरकार ने कहा कि सिर्फ एक ही परिवार को यह सम्मान नहीं मिल सकता, वहीं कांग्रेस सरकार पर पलटवार करते हुए इस फैसले को इतिहास का अपमान बताते हुए माफी मांगे जाने की मांग की. बता दें कि बुधवार को महिला कांग्रेस ने संचार भवन के आगे विरोध प्रदर्शन किया. मामले में संचार मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कहा कि एक सलाहकार समिति ने अंतर्देशीय पत्रों पर इंदिरा गांधी की तस्वीर के स्थान पर योग की तस्वीर लगाने का सुझाव दिया है, लेकिन अभी तक अंतिम फैसला नहीं हुआ है.

प्रसाद ने कहा कि डाक टिकट संबंधी एक सलाहकार समिति के सुझाव पर श्यामा प्रसाद मुखर्जी, दीन दयाल उपाध्याय, नेताजी सुभाष चंद्र बोस, सरदार पटेल, शिवाजी, मौलाना आजाद, भगत सिंह, जयप्रकाश नारायण, राम मनोहर लोहिया, विवेकानंद और महाराणा प्रताप के सम्मान में डाक टिकटों की निर्धारित श्रृंखला जारी करने का फैसला लिया गया है.

संचार मंत्री ने कहा कि 'निर्धारित डाक टिकट श्रृंखला में अब तक एक ही जोर परिवार था, हालांकि अन्य नाम भी थे. महात्मा गांधी, मौलाना आजाद, डा अंबेडकर, डा भाभा थे.’’ मंत्री ने कहा कि नई श्रृंखला समावेशी है इसमें जवाहरलाल नेहरू सहित स्वतंत्रता आंदोलन के प्रमुख लोगों के योगदान को शामिल करने पर जोर दिया गया है.

इस मामले पर तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कांग्रेस ने कहा कि यह फैसला ‘‘केंद्र सरकार की संकीर्ण मानसिकता को दर्शाता है. और इसके लिए सरकार को पार्टी से माफी मांगनी चाहिए.