प्याज घोटाला छुपाने के लिए केजरीवाल ने खर्च किए करोड़ो रूपये

नई दिल्ली : दिल्ली में आम आदमी पार्टी की सरकार पर फिर से सवाल उठने लगे हैं। हालांकि दिल्ली सरकार द्वारा घोटाले के आरोपों को दरकिनार कर दिया गया है। इस मामले में दिल्ली सरकार द्वारा राष्ट्रीय हिंदी समाचार चैनल पर ही सवाल उठाते हुए अखबार में एक पेज का विज्ञापन जारी किया है। दिल्ली की राज्य सरकार ने इस समाचार विज्ञापन का शीर्षक दिया है चैनल द्वारा प्याज पर फैलाए नए झूठ का भंडाफोड़। केजरी सरकार को बदनाम करने की साजिश का सच। इस शीर्षक के माध्यम से दिल्ली की आम आदमी पार्टी सरकार ने समाचार चैनल की खबर को झूठा बताया है। जिसमें कहा गया है कि केंद्र सरकार द्वारा प्याज नासिक से 18 रूपए प्रतिकिलो की दर से खरीदा, वहीं केंद्र सरकार द्वारा दिल्ली सरकार को प्याज 33 रूपए प्रति किलो की दर से बेचा गया।

दिल्ली सरकार ने 33 रूपए प्रति किलो के उपर ट्रांसपोर्टेशन लोडिंग अनलोडिंग और दुकानदारों के मार्जिन मनी पर 7 रूपए अतिरिक्त खर्च वहन किए। यही नहीं जनता को 30 प्रति किलो की दर से प्याज उपलब्ध करवाया। इस विज्ञापन में अंत में लिखा गया है कि आखिर आप ही सोचिए जनता को किसने धोखा दिया। केजरीवाल सरकार के विरूद्ध साजिश क्यों रची जा रही है।

केजरीवाल सरकार पर सस्ते प्याज को महंगी दर पर बेचने का आरोप लगाया जा रहा है। दिल्ली सरकार द्वारा इस तरह से किए गए असंगत कार्य को दिल्ली भाजपा के अध्यक्ष सतीश उपाध्याय ने प्याज घोटाला कहा है। उन्होंने इस मामले में विरोध जताते हुए कहा कि विज्ञापन देना था तो डेंगू पर दिया जाना था। इससे लोगों में जागृति आती और लोगों की जान बच जाती। 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -