BJP ने झाड़ा संध प्रमुख भागवत के बयान से पल्ला

BJP ने झाड़ा संध प्रमुख भागवत के बयान से पल्ला

नई दिल्ली : हाल ही में राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के सरसंघ चालक मोहन भागवत द्वारा आरक्षण के मसले पर बयान दिया गया था लेकिन भारतीय जनता पार्टी ने इस बयान से असहमति जाहिर की है। भाजपा के नेताओं ने सरसंघचालक के बयान से असहमति जाहिर करते हुए कहा कि आरक्षण को लेकर भारतीय जनता पार्टी किसी भी तरह के विचार में नहीं है। यदि आरक्षण लालू किया जाएगा तो संघ के प्रचार प्रमुख मनमोहन वैद्य ने भी इस बारे में कहा कि उन्होंने केवल इतना ही कहा कि सभी वर्गों को इसका यथोचित लाभ मिलना चाहिए।

इसका अर्थ यह है कि कमजोर वर्ग और गरीब को इसका लाभ जरूर मिले। मिली जानकारी के अनुसार बिहार चुनाव में राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन की ओर से विकास का नारा दिया गया। इस दौरान जातिगत समीकरणों को भी देखा गया। मिली जानकारी के अनुसार भागवत द्वारा आरक्षण व्यवस्था की समीक्षा किए जाने को लेकर चर्चा की गई थी।

इस मामले में पूर्व रेल मंत्री लालू प्रसाद यादव और नीतीश कुमार ने विरोध करते हुए भागवत के बयान को घूमा दिया। दलितों, पिछड़ों को एक बनाने के लिए लालू प्रसाद यादव द्वारा इस बयान को केंद्र में रखकर इसे राजनीतिक रूप से लिया गया। भागवत के बयान को जबरन ही राजनीतिक के दांव-पेंचों में उझाने की बात भी आरएसएस ने कही।

आरएसएस द्वारा इस मामले में यह भी कहा गया कि लालू ने जिस तरह से धमकी दी है वह ठीक नहीं है। आखिर यह तो पता चल ही जाएगा कि किसमें कितनी ताकत है। उल्लेखनीय है कि लालू प्रसाद यादव ने भागवत के बयान पर यह कहा था कि मां का दूध पीया है तो आरक्षण समाप्त करके दिखाओ।