'ऑपरेशन पोलो' और हैदराबाद का विलय, भाजपा ने मनाया तेलंगाना लिबरेशन डे

'ऑपरेशन पोलो' और हैदराबाद का विलय, भाजपा ने मनाया तेलंगाना लिबरेशन डे

नई दिल्ली: भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने मंगलवार (17 सितंबर) को राष्ट्रीय ध्वज तिरंगा फहराकर तेलंगाना लिबरेशन डे बनाया. इसी के साथ भाजपा प्रदेश में राष्ट्रवाद की लहर पैदा करने की कोशिश में लग गई है. तेलंगाना में पार्टी दफ्तर पर केंद्रीय मंत्री प्रह्लाद जोशी और जी किशन रेड्डी ने तिरंगा फहराया. भाजपा ने प्रदेश की TRS सरकार से 17 सितंबर को 'तेलंगाना मुक्ति दिवस' घोषित करने की मांग की थी.

वहीं इस संबंध में तेलंगाना की गवर्नर तमिलिसाई सुंदरराजन से भी भाजपा यह माग कर चुकी है. भाजपा आने वाले दिनों में भी लिबरेशन डे को लेकर सूबे में कार्यक्रम करेगी. दरअसल, भाजपा का मानना है कि देश को स्वतंत्रता, 15 अगस्त 1947 को मिली थी, किन्तु हैदराबाद का भारत में विलय 17 सितंबर 1948 को हुआ. तत्कालीन गृह मंत्री सरदार वल्लभ पटेल के आदेश पर पुलिस कार्रवाई के बाद विलय हुआ था. उस समय हैदराबाद के निजाम विलय के लिए तैयार नहीं हो रहे थे. जिसके कारण केंद्र सरकार को सैन्य कार्रवाई करनी पड़ी थी.

सेना की तरफ से हैदराबाद के विलय के लिए 13 सितंबर से 17 सितंबर 1948 तक चलाए कुल 109 घंटे के ऑपरेशन को 'ऑपरेशन पोलो' नाम दिया गया था. आखिरकार 17 सितंबर को हैदराबाद के निजाम ने अपनी फ़ौज के साथ सरेंडर कर दिया था. जिसके बाद हैदराबाद का भारत में सफलतापूर्वक विलय हो गया.

बैंकों का विलयः अगले साल अप्रैल तक हो जाएगा पीएनबी में बैंको का विलय

व्यापार सुगमता के टॉप 25 देशों की लिस्ट में शामिल होना चाहता है भारत

देश में निर्यात को बढ़ावा देने के लिए यह कदम उठाएगी सरकार