Tata Steel : 3000 से ज्यादा नौकरियां है खतरों में, शुरू हो गई है छटनी

 टाटा स्टील अपने यूरोपीय ऑपरेशंस में लगभग 3,000 नौकरियां कम करने की योजना बना रही है। कमजोर मांग और उच्च लागत से जूझ रही कंपनी ने सोमवार को यह बात कही है। इससे पहले मामले के एक जानकार ने रॉयटर्स को बताया गया था कि करीब 3,000 लोगों की नौकरियां भी जा सकती है। सूत्र ने यह बात तब कही थी, जब ग्रुप के यूरोपियन चीफ एग्जीक्यूटिव Henrik Adam ने बिना कोई संख्या बताए कहा था कि टाटा अपने पूरे यूरोपियन कारोबार में नौकरियों को कम करने की योजना बनायी जा रही है।

टाटा ने एक स्टेटमेंट में कहा कि कंपनी को उच्च कीमत वाले प्रोडक्ट्स की बिक्री बढ़ाने और अपने यूरोपियन ऑपरेशंस में करीब 3,000 कर्मचारियों की छंटनी कर लागत में कमी लाने की जरुरत है। इसमें कहा गया कि लगभग दो तिहाई नौकरियों की छंटनी ऑफिस बेस्ड पदों में से हो सकती है। बताया जा रहा है कि अप्रैल 2019 से शुरू हुए इस वित्तीय वर्ष के पहले छह महीनों में टाटा स्टील यूरोप के EBITDA में 90 फीसद की गिरावट आई हुई है।

टाटा स्टील के भारतीय कारोबार की बात की जाए, तो 30 सितंबर को समाप्त हुई तिमाही में कंपनी को 255.89 करोड़ रुपये का नुकसान उठाना पड़ा है। जारी आंकडों के मुताबिक, इस तिमाही में टाटा स्टील की आय घटकर 4,580.47 करोड़ रुपये रह गई।  एक तरफ, यदि एक साल पहले की समान अवधि से तुलना कर के देखे, तो तब कंपनी को 60.7 करोड़ रुपये का नेट प्रॉफिट हुआ था। कंपनी की आय की बात करें, तो एक साल पहले की समान अवधि में यह 5,907.47 करोड़ रुपये थी।

रिलायंस इंडस्ट्रीज ने रचा इतिहास, बनी 9 लाख करोड़ के मार्केट कैपिटल वाली देश की पहली कंपनी

इनकम टैक्स का भुगतान करना अब और भी आसान, बैंकों के चक्कर लगाने से मिलेगी निजात

अमेरिका की सख्त निगरानी ने फार्मा उद्योग को किया परेशान, दवाईयों पर पड़ रहा बुरा असर

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -