पलक मुछाल का सिंगिंग के अलावा समाजसेवा में अहम योगदान

Mar 30 2015 01:39 AM
पलक मुछाल का सिंगिंग के अलावा समाजसेवा में अहम योगदान
बॉलीवुड फिल्म "एक था टाइगर" और "आशिकी 2" में हिट गानो को अपनी आवाज देने वाली बॉलीवुड सिंगर पलक मुछाल का जन्म 30 मार्च, 1992 को हुआ था. गौरव की बात यह है कि उनका जन्म इंदौर/मध्यप्रदेश में हुआ है. हार्ट पेशेंट्स का इलाज पलक का नाम उन हस्तियों में शुमार है, जिन्होंने समाजसेवा में अपना अहम योगदान दिया है.

पलक ने चार साल की उम्र से गाना शुरू कर दिया था. तभी से वे हार्ट पेशेंट्स बच्चों का इलाज कराने में आर्थिक मदद कर रही हैं. उन्होंने अपने छोटे भाई पलाश मुछाल के साथ मिलकर देश-विदेशों में कई प्रस्तुतियां देकर हृदय पीड़ितों की मदद के लिए चंदा इकट्ठा किया. ढाई करोड़ रुपए का चंदा पलक ने मई 2013 तक ढाई करोड़ रुपए का चंदा इकट्ठा कर तकरीबन 572 हृदय रोग पीड़ित बच्चों का इलाज कराने में आर्थिक मदद की.

समाजसेवा में योगदान के लिए उनका नाम गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड और लिम्का बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में भी दर्ज है. भारत सरकार और विभिन्न सामाजिक संस्थाओं ने उन्हें कई पुरस्कारों से सम्मानित भी किया है. बॉलीवुड फिल्मों में गाना पलक ने 2011 में बॉलीवुड फिल्मों में बतौर सिंगर अपने करियर की शुरुआत की.

उन्होंने फिल्म "एक था टाइगर" और "आशिकी 2" में गाने गाए हैं. उन्होंने "दमादम", "ना जाने कब से", "फ्रॉम सिडनी वुईथ लव", "पुलिसगिरी", 'जंजीर', "खिलाड़ी", "आर राजकुमार", "करले प्यार करल", "जय हो", "हमशक्ल", "एक्शन जैक्सन" सहित कई फिल्मों में गाने गाए हैं.


?