दक्षिण भारत के लोकप्रिय अभिनेता और प्रखर राजनेता, जिनके सामने कांग्रेस ने भी टेक दिए थे घुटने

May 28 2019 12:00 AM
दक्षिण भारत के लोकप्रिय अभिनेता और प्रखर राजनेता, जिनके सामने कांग्रेस ने भी टेक दिए थे घुटने

28 मई 1923 को जन्मे नन्दमूरि तारक रामाराव या एन.टी. रामा राव दक्षिण भारत के फिल्मी अभिनेता, निर्देशक, निर्माता एवं राजनेता थे. उन्होने तेलुगु देशम पार्टी (तेदेपा) की स्थापना की और आंध्र प्रदेश के सीएम भी रहे. उन्हें प्राय: एनटीआर के उपनाम से जाना जाता है. राज्य को कांग्रेस के आधिपत्य से मुक्त करने के लिए एन.टी. रामा राव ने वर्ष 1982 में तेलुगु देशम पार्टी की नींव रखी.

जब एन.टी. रामा राव ने अपनी सियासी पारी का आगाज़ किया, उस वक़्त वे एक लोकप्रिय अभिनेता थे. वर्ष 1983 में सर्वसम्मति से एन.टी. रामा राव को तेलुगु देशम विधायक दल का नेता चुन लिया गया, जिसमें दस कैबिनेट मंत्री और पांच राज्य मंत्री शामिल थे. एन.टी. रामा राव आंध्र-प्रदेश के दसवें सीएम थे. 1983 से 1994 के बीच वे तीन बार इस पद के लिए निर्वाचित हो चुके थे. एन.टी. रामा राव इतने दक्षिण भारत में इतने लोकप्रिय थे कि इन्दिरा गांधी की हत्या के बाद जब पूरे देश में कांग्रेस की लहर चली थी, तब बस आंध्र-प्रदेश में कांग्रेस नहीं जीत सकी थी.

इतना ही नहीं तेलुगु देशम लोक सभा में मुख्य विपक्षी दल भी बना था. वर्ष 1989 के चुनाव में विरोधी लहर की वजह से तेदेपा चुनाव हार गई और कांग्रेस एक बार फिर सत्ता में वापस लौटी. वर्ष 1994 में एन.टी. रामा राव फिर से सत्ता में लौटे. उनकी पार्टी की 226 सीटों पर प्रचंड विजय हुई. इस दफा एन.टी. रामा राव केवल 9 महीने के लिए ही सीएम पद रह पाए क्योंकि उनके दामाद चंद्रबाबू नायडू ने पार्टी के अन्दर भीतरघात कर रामा राव को पार्टी प्रमुख और सीएम पद से हटा दिया. इसके दो साल बाद 18 जनवरी 1996 को उनका निधन हो गया.

अब इस ड‍िजाइनर से जुड़ा करण जौहर का नाम, शोभा डे ने दे डाली बधाई

बेटे अबराम को आर्यन का लव चाइल्ड मानते थे लोग, किंग खान ने किया खुलासा

इस महान भारतीय क्रिकेटर ने कम उम्र में ही कर दी थी अपने करियर की शुरुआत