बिहार: खतरे के निशान से ऊपर पहुंची महानंदा, मेडिकल टीम सतर्क `

Jul 14 2019 06:04 PM
बिहार: खतरे के निशान से ऊपर पहुंची महानंदा, मेडिकल टीम सतर्क `

पटना: बिहार में बीते कुछ दिनों से लगातार बारिश हो रही है. जोरदार बारिश के चलते पहले ही कोसी और गंडक जैसी नदियां उफान पर हैं और अररिया, सुपौल, पूर्णिया, मोतिहारी और बगहा के कई प्रखंडों में बाढ़ जैसे हालात पैदा हो गए हैं. मौसम विभाग ने अररिया, मोतिहारी, बेतिया, सुपौल, सीतामढ़ी, मधुबनी, भागलपुर, खगड़िया, पूर्णिया और मधेपुरा में भारी बारिश होने के अंदेशे के चलते अलर्ट जारी कर दिया है.

भारी बारिश की संभावना के मद्देनज़र पूर्वी चंपारण और मोतिहारी में धारा 144 लगाई गई है. वहीं, कटिहार में स्थिति बिगड़ती जा रही है. कदवा-आजमनगर और प्राणपुर प्रखंड में हाई अलर्ट जारी कर दिया गया है. तटबंध के निचले इलाकों के गांवों को प्रशासन ने आगाह कर दिया है. इलाके में 42 नाव और दो मोटरबोट समेत स्वस्थ महकमा की टीम को प्रशासन ने नियुक्त किया है. इलाके के निचले 70 गांव महानंदा नदी के फैले पानी से प्रभावित हो रहे हैं. 

नेपाल के तराई क्षेत्रों में निरंतर बारिश के बाद गंडक नदी के जलस्तर में भारी बढ़ोतरी हुई है. बाल्मीकि नगर गंडक बराज से शनिवाह सुबह 8 बजे तक 1,79,600 क्यूसेक पानी डिस्चार्ज किया गया है. पिछले 24 घंटे से निरंतर गंडक नदी का जलस्तर में वृद्धि जारी है ऐसे में उत्तर बिहार में बाढ़ का खतरा मंडराने लगा है. यदि ऐसे ही बारिश होती रही तो बगहा, बेतिया, गोपालगंज समेत उतर बिहार के कई इलाके बाढ़ के चपेट में आ सकते हैं.

पांचवे दिन भी पेट्रोल के दामों में मिली राहत, डीजल की कीमत भी रही स्थिर

JRF के पदों पर जॉब ओपनिंग, मिलेगा आकर्षक वेतन

SBI के ग्राहकों के लिए बड़ी खुशखबरी, 1 अगस्त से मुफ्त में मिलेगी यह सर्विस