बिहटा को 'आपात स्थिति से ग्रस्त क्षेत्र' घोषित करना पड़ेगा: निखिल आनंद

पटनाः बीजेपी ओबीसी मोर्चा के राष्ट्रीय महामंत्री सह प्रवक्ता डॉ. निखिल आनंद ने हाल ही में एक बयान दिया है। जी दरअसल आज यानी बुधवार को उन्होंने बिहटा में किशुनपुर हत्याकांड के पीड़ित परिजनों से मुलाकात की। अभी कुछ दिनों पहले ही किशुनपुर के प्रदीप कुमार और राहुल कुमार की नृशंस हत्या कर दी गई थी हालाँकि तीसरा शख्स अजित कुमार है जिसकी हालत गंभीर है और उसका अस्पताल में इलाज चल रहा है।

अब इन सभी के बीच निखिल आनंद ने कहा, 'किशुनपुर की यह घटना सामान्य नहीं है, बल्कि नरसंहार की तरह है। इस पूरी घटना के पीछे कोई मास्टरमाइंड है जिसके इशारे पर तीन सोए हुए लोगों के साथ इस तरह किया गया।' इसके अलावा निखिल आनंद ने यह भी कहा कि, 'इस घटना को अंजाम देने वाले और इसकी साजिश में शामिल लोगों का चेहरा जल्द बेनकाब होना चाहिए। पुलिस-प्रशासन सख्ती से जांच करे और पीड़ितों को जल्द न्याय दिलाए।'

इसके अलावा निखिल आनंद ने बिहटा में अनवरत जारी आपराधिक घटनाओं पर नाराजगी जाहिर की। उन्होंने अपने बयान में कहा, 'बिहटा औद्योगिक और शिक्षण संस्थानों का हब बनने की ओर अग्रसर है लेकिन दुर्भाग्यपूर्ण है कि इनदिनों अपराध की घटनाओं के लिए सुर्खियों में है। अगर यही हाल रहा तो वह दिन दूर नहीं जब बिहार सरकार को 'नक्सल प्रभावित क्षेत्र' की तरह कोई नया नाम ढूंढकर बिहटा को भी 'आपात स्थिति से ग्रस्त क्षेत्र' घोषित करना पड़ेगा।'

घर में ही इस अभिनेत्री को बदमाशों ने बनाया बंधक, लाखों रूपये लूट कर हुए फरार

तालिबान ने हथियारों और सैन्य वाहन की तलाश में काबुल में पूर्व पुलिस अधिकारी के पिता पर किया हमला

कोकराझार आदिवासी लड़की के साथ दुष्कर्म और हत्या के मामले में आया नया मोड़, सभी आरोपी हुए गिरफ्तार

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -