JDU की 50-50 मांग को BJP ने किया खारिज

देहरादून: 2020 के विधानसभा चुनाव में बीजेपी एवं सीएम नीतीश कुमार की जनता दल यूनाइटेड (JDU) के बीच आधे-आधे का समझौता हुआ था। अब नीतीश कुमार ने इस समझौते को होने वाले विधान परिषद चुनावों में भी निर्धारित करने की मांग की है, जिसे बीजेपी मानने के लिए तैयार नहीं है। इन चुनावों के लिए अधिसूचना शीघ्र ही जारी होने की आशा है। विधान परिषद में इस वक़्त 24 सीट खाली हैं। 

वही JDU के संसदीय बोर्ड के अध्यक्ष तथा पूर्व केंद्रीय मंत्री उपेंद्र कुशवाहा ने मंगलवार को 50-50 की मांग उठाई थी। उन्होंने जोर देते हुए बताया था कि विधानसभा चुनावों के चलते जिस फार्मूला पर मंजूरी व्यक्त की गई थी उससे हटने की कोई वजह नहीं है। किन्तु, मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, बीजेपी नेताओं का कहना है कि आगामी विधान परिषद चुनावों के लिए पार्टी नीतीश कुमार की इस मांग को कबूल करने वाली नहीं है। 

वही कुशवाहा ने कहा था, '2015 के विधानसभा चुनाव के पश्चात् से हमेशा JDU एवं इसके बड़े सहयोगी ने प्रत्येक गठबंधन में सीट बंटवारे पर 50-50 का फॉर्मूला अपनाया है। इसमें 2019 के संसदीय चुनाव तथा 2020 के विधानसभा चुनाव भी सम्मिलित हैं। इसलिए हम आशा करते हैं कि इस बार भी इसी फॉर्मूला को अमल में लाया जाएगा।' मगर चर्चा यही है कि बीजेपी इस बार सीट बंटवारे के इस तरीके को अपनाने के विचार में नहीं है।

लद्दाख में नौकरी के लिए अनिवार्य थी 'उर्दू' भाषा, अब मोदी सरकार ने बदल दिया नियम

बिक्रम मजीठिया को हाई कोर्ट ने दी अग्रिम जमानत, सिद्धू और चन्नी को बड़ा झटका

पंजाब की दो सीटों से चुनाव लड़ेंगे चरणजीत चन्नी, हार का डर या कोई और प्लान ?

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -