बिहार में उर्दू को प्रोत्साहित करेगी राज्य सरकार

Jan 05 2016 02:30 PM
बिहार में उर्दू को प्रोत्साहित करेगी राज्य सरकार

पटना : मुख्यमंत्री नीतीश कुमार द्वारा राज्य में उर्दू को प्रोत्साहित करने को लेकर नई नीति तैयार की गई है। इस दौरान सरकार के मंत्रियों ने एक बैठक में इस प्रस्ताव को स्वीकृति दी कि राज्य सरकार  राज्य में उर्दू निदेशालय के पदों को भरेगी। इस मामले में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की अध्यक्षता में एक बैठक मुख्यमंत्री आवास पर आयोजित की गई। बैठक में विभिन्न योजनाओं से जुड़े प्रस्तावों को स्वीकृत किया गया। इस योजना में राज्य सरकार उर्दू को प्रोत्साहित करने हेतु किसी तरह की कसर शेष नहीं रख रही है।

उर्दू निदेशालय के पद भरने के साथ पुलिस विभाग में थाना स्तर पर भी रिक्तियों को भरा जाएगा। राज्य में नालंदा विश्वविद्यालय के क्षेत्र को पर्यटक स्थल के तौर पर और सुव्यवस्थित किया जाएगा। यही नहीं राजगीर को भी पर्यटक क्षेत्र के तौर पर विकसित किया जाएगा। इस हेतु नालंदा विश्वविद्यालय के समीप हवाई पट्टी का निर्माण किया जाएगा।

पुलिस लाईन में हैलीपेड विकसित किए जाऐंगे जिससे पुलिस को आधुनिक बनाया जा सके। राज्य सरकार सूचना और जनसंकर्प विभाग को मजबूत बनाएगी। और लोक संवाद कार्यक्रम को पेशेवर तरह से लेगी। यही निर्णय भी हुआ कि राज्य सरकार अपने कार्यों में हिंदी के उपयोग के लिए पारिभाषिक शब्दावली का प्रयोगकरेगी और उसे अपडेट किया जाएगा। उर्दू के प्रचार - प्रसार हेतु मुख्यमंत्री ने समिति बनाने का निर्देश भी दिया है। इसके लिए अल्पसंख्यक कल्याण, मंत्रिमंडल और वित्त विभाग के प्रधान सचिव के साथ उर्दू निदेशक शामिल होंगे।