भारतीय किसान के बेटे को ग्रिनेल पुरस्कार से नवाज़ेगा अमेरिका, मिलेगा 70 लाख का नकद इनाम

Aug 03 2019 10:57 AM
भारतीय किसान के बेटे को ग्रिनेल पुरस्कार से नवाज़ेगा अमेरिका, मिलेगा 70 लाख का नकद इनाम

पटना: बिहार के गया जिले के अंतर्गत आने वाले हमजापुर गांव के किसान परिवार में जन्में शफीकुर रहमान खान को अमेरिका में ग्रिनेल पुरस्कार से नवाज़ा जाएगा. उन्हें सम्मान के साथ एक लाख डॉलर यानी लगभग 70 लाख रुपये भी उपहारस्वरूप दिए जाएंगे. शफीकुर को ये सम्मान भारतीय दुल्हन तस्करी को ख़त्म करने की कोशिश के लिए दिया जा रहा है. इसके अलावा उन्होंने महिलाओं के अधिकारों के लिए भी कई कार्य किए हैं. 

शफीकुर ये पुरस्कार पाने वाले पहले भारतीय हैं. शफीकुर बताते हैं कि उन्हें ये सम्मान देने के अलावा यूनिवर्सिटी ने अपने कोर्स में उनके किए कार्य को शामिल किया है. शफीकुर लगभग 15 वर्ष की आयु से सामाजिक कार्यों से संबंधित हैं. फिलहाल वह हरियाणा, राजस्थान, पंजाब, उत्तर प्रदेश, पश्चिम बंगाल, झारखंड, बिहार और असम आदि प्रदेशों में कार्य कर रहे हैं. शफीकुर का दावा है कि वो अब तक लगभग 5000 महिलाओं को मुक्त करा चुके हैं.

वे बताते हैं कि वर्ष 2004 में दिल्ली आए था. यहां वो बंधुआ मजदूर मुक्ति मोर्चा संगठन में शामिल हुए. वर्ष 2006 में एम्पॉवर पीपल नाम की संस्था बनाई. वो कन्या भ्रूण हत्या के विरुद्ध जागरूकता फैलाने के लिए 300 किमी की पैदल यात्रा भी कर चुके हैं. उनके साथी शौकत अली बताते हैं कि शुरू में शफीकुर अकेले इस सफर पर चले थे, लेकिन आज पूरे देश में उन्होंने 70 टीमें तैयार की हैं.

आखिर क्या है NMC बिल? जिसके खिलाफ पांच दिनों से हड़ताल पर हैं देशभर के डॉक्टर्स

बच्ची को दूध पिला रही थीं यह एक्ट्रेस, इंटरनेट पर वीडियो हो गया वायरल

International Beer Day : कई तरह की होती है बीयर, ऐसे करें पहचान