बिहार चुनाव: रविश कुमार के जिस भाई पर 'दुष्कर्म' का आरोप, उसे कांग्रेस ने बनाया उम्मीदवार

बिहार चुनाव: रविश कुमार के जिस भाई पर 'दुष्कर्म' का आरोप, उसे कांग्रेस ने बनाया उम्मीदवार

पटना: बिहार विधानसभा चुनाव में कांग्रेस ने प्रत्याशियों की दूसरी सूची जारी कर दी है। इसमें पत्रकार रवीश कुमार के भाई ब्रजेश पांडेय को उम्मीदवार बनाया गया है। कांग्रेस ने उन्हें मोतिहारी के गोविंदगंज से टिकट दिया है। ब्रजेश पांडेय का कथित आपराधिक इतिहास होने के कारण उन्हें टिकट दिए जाने पर सोशल मीडिया यूजर्स ने कांग्रेस पर हमला बोला है।

लेखक शेफाली वैद्य ने कहा है कि कितने शर्म की बात है कि कांग्रेस ब्रजेश पांडे जैसे लोगों को पसंद करती है। उन्होंने पत्रकार रवीश कुमार से सवाल करते हुए कहा है कि 'अब डर का माहौल नहीं है ?' उन्होंने अपने ट्वीट के साथ ही एक अन्य भी रिट्वीट किया है। इसमें अंकुर सिंह नामक एक सोशल मीडिया यूजर ने लिखा है कि 'रवीश कुमार के भाई और कांग्रेस नेता ब्रजेश पांडेय व उनके दोस्त निखिल पर एक नाबालिग दलित लड़की के साथ बलात्कार करने का आरोप लगा था। ट्वीट में कहा गया कि बाद में मामले को निपटारे के लिए दुष्कर्म पीड़िता को निखिल से शादी करने के लिए विवश होना पड़ा। हाथरस में तस्वीर खिंचवाने के बाद राहुल गांधी ने ब्रिजेश पांडेय को टिकट दिया है।'

बता दें कि ब्रजेश पांडेय बिहार कांग्रेस की प्रदेश इकाई के उपाध्यक्ष भी रह चुके हैं। हालांकि 2017 में उनका नाम रेप केस में आने के बाद कांग्रेस ने उनसे किनारा कर लिया था। लेकिन अब प्रत्याशी की दूसरी सूची में कांग्रेस ने उन्हें टिकट दिया है। इधर रवीश कुमार के भाई को टिकट दिए जाने पर सोशल मीडिया यूजर्स भी कांग्रेस को निशाना बना रहे हैं।

 

केरल स्वर्ण तस्करी केस: भाजपा का आरोप- सीएम विजयन के दफ्तर से भी जुड़ रहे तार

ट्विटर के सीईओ जैक डोर्सी ने सोशल मीडिया पर चल रही समस्याओं का दिया ये जवाब

जो बिडेन का बड़ा बयान, कहा- देश में बेरोजगारी बढ़ रही है