मोदी के लिए प्रतिष्ठा का विषय बन चुका है बिहार चुनाव : US थिंक टैंक

Oct 01 2015 02:23 PM
मोदी के लिए प्रतिष्ठा का विषय बन चुका है बिहार चुनाव : US थिंक टैंक

वांशिगटन : इन दिनों बिहार में विधानसभा चुनाव का बोलबाला है। चुनाव के मद्देनज़र सभी पार्टियां अपनी जोर आजमाईश में लगी हैं। हर कोई एक से बढ़कर एक प्रचार कर रहा है। दूसरी ओर यह चुनाव जनता परिवार से भी ज्यादा एनडीए के लिए महत्वपूर्ण है। जी हां, दरअसल इसमें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का राष्ट्रीय नेतृत्व दांव पर लगा हुआ है। बिहार चुनाव में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का प्रचार-प्रसार किया जा रहा है।

इस चुनाव को अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर देखा जा रहा है। क्योंकि नरेंद्र मोदी अपने विदेशी दौरों के बाद भारत के एक अंतर्राष्ट्रीय नेता बन गए हैं। ऐसे में बिहार चुनाव में उनकी कैंपेनिंग के बाद पार्टी की जीत और हार मोदी और भारत की साख को भी प्रभावित करेगी। हालांकि भारत की साख प्रभावित होने की बात सीधे तौर पर कहीं कही नहीं जा रही है, लेकिन आचार संहिता के दायरे में रहते हुए हर कोई यह मान रहा है कि इसका असर देश की साख पर भी पड़ेगा।

मामले में विद्वानों द्वारा लिखा गया है कि यदि इसमें हार मिलती है तो यह बड़ा झटका हो सकता है। प्रधानमंत्री मोदी द्वारा प्रचार में प्रतिष्ठा को दांव पर लगाया जा सकता है। राज्य के लिए 1.25 लाख करोड़ रूपए के आर्थिक पैकेज की घोषणा भी की गई है। इस दौरान अमेरिकी थिंक टैंक के विद्वानों द्वारा कहा गया कि चुनाव के परिणाम मुख्यमंत्री नीतिश कुमार और उनके सहयोगी लालू प्रसाद यादव के राजनीतिक कैरियर की दिशा तय करेंगे।