बिहार में मनाया गया यौम-ए-पैदाइश का जश्न, मुस्लिम समुदाय ने निकाले जुलुस

Nov 10 2019 05:10 PM
बिहार में मनाया गया यौम-ए-पैदाइश का जश्न, मुस्लिम समुदाय ने निकाले जुलुस

पटना: बिहार के भागलपुर जिले में रबी उल अव्वल की 12वीं तारीख यानी रविवार को हजरत मोहम्मद के यौम-ए-पैदाइश का जश्न मनाया गया। ईद मिलादुन्नबी के मौके पर रविवार की सुबह आठ बजे से ही शहर के लगभग 125 से 150 मुहल्लों से नात-ए-पाक के बीच जुलूस-ए-मोहम्मदी  निकाला गया। जुलुस में चल रहे हजारों लोग दारूद व नात-ए-पाक कर रहे थे। 

इस दौरान 'हुजूर आये तो दुनियां में रौशनी आयी...' और ' गली-गली को मनव्वर करो चरागों से, जमीं पे आज हमारे हुजूर आते हैं...' जैसे नात-ए-पाक की आवाज़ गूंजती रही। जुलूस में शामिल इस्लाम का झंडा एवं तिरंगा माहौल को इबादत व देश भक्ति के रंग में रंग रहा था। शहर के अलग अलग स्थानों से निकली जुलूस ए-मोहम्मदी प्रमुख मार्गों से होते हुए दोपहर 12 बजे खानकाह आलिया शहबाजिया मौलानाचक शरीफ पहुंची। जहां लोगों ने जुलूस में शामिल लोगों का अभिवादन किया।

दोपहर साढ़े 12 बजे पर खानकाह आलिया शहबाजिया के गद्दीनशीं हजरत सैय्यद शाह इंतेखाब आलम ने लोगों को हजरत मोहम्मद साहब के यौमे पैदाइश की बधाई दी। इसके पूर्व जामिया शहबाजिया और खानकाह आलिया शहबाजिया में सुबह नौ से दस बजे के बीच बच्चों द्वारा कुरानखानी का आयोजन किया गया। जिन-जिन मार्गो से जुलूस निकला, वहां पर सुरक्षा व्यवस्था कड़ी रही। तातारपुर चौक, रेलवे स्टेशन चौक, शाहजंगी मैदान और खानकाह शहबाजिया मस्जिद परिसर में बड़े पैमाने पुलिस और रैपिड एक्शन फ़ोर्स के जवान तैनात रहे।

भाजपा ने कांग्रेस पर लगाए आरोप, नेशनल हेराल्ड और अयोध्या मामले को लेकर साधा निशाना

IRCTC Vikalp स्कीम: जानिए, कब और कैसे उठाएं इस योजना का लाभ

RBI के डिप्टी गवर्नर की पद के लिए पात्रा का नाम आगे, 3 अर्थशास्त्री और IAS अफसर भी रेस में शामिल