इस राज्य में नहीं है एक भी ग्रीन जोन, यहाँ देखें अपने जिले का हाल

पटना: लॉकडाउन का तीसरा चरण सोमवार 4 मई से शुरू हो चुका है. बिहार में कोरोना संक्रमित मरीजों की तादाद में लगातार हो रही बढ़ोतरी को देखते हुए राज्य सरकार ने फैसला लिया है कि अब राज्य में सिर्फ 2 जोन होंगे, रेड और ऑरेंज. यानी कि राज्य में कोई ऐसा इलाका नहीं होगा, जिसमे राहत दी जा सके. पूरे प्रदेश में कोरोना को लेकर सरकार की नज़र होगी.

बिहार सरकार ने फैसला लिया है कि अब इन्हीं दोनों जोन के आधार पर 17 मई तक चलने वाले लॉकडाउन -3 में लोगों को ढील दी जाएगी. राज्य में रविवार को कोरोना मरीजों की तादाद 500 के पार हो गई थी जिसके मद्देनज़र राज्य सरकार ने उन 13 जिलों को जो ग्रीन जोन में हैं उन्हें भी ऑरेंज जोन में डालने का फैसला लिया है. केंद्र सरकार ने बिहार के 5 जिलों को रेड जोन में रखा है, इन पांच जिलों में मुंगेर, पटना, बक्सर, रोहतास और गया का नाम शामिल हैं.

बिहार की नितीश कुमार सरकार ने कहा है कि इन सभी जिलों में वहां के डीएम हालात को देखते हुए ये तय करेंगे कि किन-किन व्यावसायिक गतिविधियों में ढील दी जाएगी. केंद्र सरकार के मानदंडों के हिसाब से ऑरेंज जोन में आने वाले तमाम जिलों में सोमवार से सभी प्रकार के निर्माण कार्य की अनुमति दी जा चुकी है. इन जिलों में सभी प्रकार के उद्योगों को भी चलाने की अनुमति दी गई है.

Bharat eMarket होगा बहुत बड़ा E-Commerce प्लेटफॉर्म, जानें क्या है अलग

लॉकडाउन में भारत ने आयात किया 50 किलों सोना, जानें पूरी रिपोर्ट

EMI माफ़ हो, सरकार चुकाए क़र्ज़, केंद्र को अभिजीत बनर्जी ने दिया सुझाव

 

 

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -