बिहार: महागठबंधन में पैदा हुई 'रार'

पटना: बिहार के दो विधानसभा सीटों पर हो रहे उपचुनाव को लेकर सभी दल विजयादशमी के पश्चात् अपनी पूरी ताकत झोंकने की तैयारी में हैं। सभी दल विजयादशमी के पश्चात् अपनी-अपनी योजना के साथ चुनावी समर में खम ठोकेंगे। ऐसे में देखा जाए तो राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन को जहां महागठबंधन में फूट पड़ने से फायदे की आस जगी है। वहीं प्रमुख विपक्षी पार्टी राष्ट्रीय जनता दल को अपने नेता लालू प्रसाद पर विश्वास है। वैसे, देखा जाए राजग एवं राजद समेत सभी पार्टियां अपने-अपने जीत के दावे कर रहे हैं।

वही इस चुनाव में सत्ताधारी गठबंधन राजग के घटक दल जदयू के कोटे में दोनों सीटें कुशेश्वरस्थान तथा तारापुर गई है। जदयू ने इन दोनों सीटों पर अपने उम्मीदवार उतारे हैं। दूसरी तरफ राजद एवं कांग्रेस इस चुनाव में भिन्न-भिन्न ताल ठोंक रहे हैं, जबकि लोजपा (रामविलास) ने भी अपने उम्मीदवार उतार दिए हैं, जिससे मुकाबला दिलचस्प होने की आशा है।

वही भारतीय जनता पार्टी के प्रवक्ता निखिल आनंद कहते हैं कि बीते वर्ष हुए चुनाव में दोनों सीटों पर जदयू के उम्मीदवार विजयी हुए थे तथा इस उपचुनाव में भी वही नतीजा होगा। उन्होंने राजग के जीत का दावा करते हुए कहा, विधानसभा उपचुनाव में निश्चित रूप से राजग जीतने के हालात में है। महागठबंधन का प्रश्न है तो दोनों पार्टियां कांग्रेस एवं राजद अलग हो चुकी है।

पूर्व पीएम मनमोहन सिंह के सवास्थ्य को लेकर AIIMS से आया बड़ा अपडेट, 2 दिनों से हैं भर्ती

राहुल गाँधी और कांग्रेस ने दी दशहरे की शुभकामनाएं, बधाइयां कम सरकार पर हमला ज्यादा

अमेरिका को वार्ता प्रस्तावों पर नार्थ कोरियाई की प्रतिक्रिया का है इंतजार

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -