डर के मारे इस खिलाड़ी ने धोनी से पूछी ऐसी बात, जिसको जानकार हैरान रह जाएंगे आप

महेंद्र सिंह धोनी काफी कूल कप्तान रहे हैं और अपने शांत स्वभाव के लिए जाने जाते हैं. वैसे एक भारतीय बल्लेबाज ऐसा भी रहा है जिसने आज तक डर के मारे धोनी से यह नहीं पूछा कि उसे शतक लगाने के बाद भी टीम से क्यों बाहर किया. बता दें कि वह बल्लेबाज कोई और नहीं बल्कि मनोज तिवारी हैं जो धोनी की कप्तानी में खेले हैं.गौर करने वाली बात है कि साल 2008 में डेब्यू करने वाले मनोज तिवारी ने 2011 में वेस्टइंडीज के खिलाफ नाबाद 104 रन की पारी खेली थी . वहीं इसके अगले ही मैच में उन्हें टीम से बाहर कर दिया गया और वह अगले 14 मैच नहीं खेल पाए. पुरानी बातों को याद करते हुए मनोज तिवारी ने कहा कि टीम से बाहर होने के बावजूद उन्होंने कभी भी धोनी से इस संबंध में सवाल नहीं किया .

मनोज तिवारी ने कहा कि मैंने कभी सोचा नहीं था कि अपने देश के लिए शतक बनाने के बाद और मैन ऑफ द मैच जीतने के बाद मैं अगले 14 मैचों के लिए बाहर हो जाऊंगा. मगर मैं इस बात का सम्मान करता हूं. कप्तान, कोच और टीम मैनेजमेंट के अपने विचार होते हैं बतौर खिलाड़ी हमें उनके फैसलों का सम्मान करना चाहिए , क्योंकि शायद यह उनकी रणनीति हो.

बता दें कि मनोज तिवाहरी को इसके बाद टीम में मौका 2012 में मिला था और उन्होंने श्रीलंका के खिलाफ मैच खेला था . इसके बाद फिर तिवारी 2 साल के लिए बाबर हो गए थे. मनोज तिवारी का करियर उतार चढ़ाव वाला रहा है और वह अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में अपना ज्यादा जलवा भी नहीं दिखा सके.

लॉक डाउन के बीच शाहिद अफरीदी ने मज़बूर लोगों के लिए बढ़ाया मदद का हाथ

UFC : मुकाबले के दौरान टेक्सीरा ने तोड़े स्मिथ के दांत

इस साल फेरारी से अलग हो सकता है ये दिग्गज खिलाड़ी

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -