बेहद ही अनोखी थी भूपेन हज़ारिका की लव स्टोरी, मरते दम तक उनको नहीं भूल पाई थी फेमस डॉयरेक्टर

हिंदी सिनेमा के जानें माने सिंगर भूपेन हजारिका का जन्म 8 सितंबर को हुआ था। कई गानों को अपनी खूबसूरत आवाज देकर भूपेन ने अपने फैंस का दिल जीत लेते थे। हिंदी सिनेमा और संगीत के लिए में शानदार योगदान देने के लिए हाल ही में भूपेन हजारिका को भारत रत्न भी दिया जा चुका है। भूपेन हजारिका भले की अब इस हमारे मध्य नहीं हों लेकिन उनकी प्रेम कहानी हमेशा से सुर्खियों में चलती रहती है। हम बता दें कि बचपन से ही उन्हें पढ़ाई के अतिरिक्त म्यूजिक और साहित्य का शौक व्यक्त किया था। उन्होंने 11 वर्ष की आयु में असम मे ऑल इंडिया रेडियो के लिए पहली बार गाना गाया था।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार बॉलीवुड म्यूजिक इंडस्ट्री के इस दिग्गज कलाकार ने एक से बढ़कर एक नगमे दिए हैं। वर्ष1993 में आई मूवी रुदाली में गाए गए उनके गीत, बीते न बीते न रैना को दर्शकों ने खूब सराहा था। भूपेन के गुजर जाने के बाद भी ये गाना आज भी लोगों की जुबां पर बना हुआ है।  इस गाने ने उनकी ख्याति दूसरे देशों में भी और ज्यादा बढ़ा रही है। तभी एक बार भूपेन फ्रैंकफर्ट एयरपोर्ट पर लाइन में खड़े थे। तब एक पाक शख्स ने उनसे पूजा कि क्या वे भूपेनहजारिका हैं। जिसके जवाब में उन्होंने सिर हिलाकर उनका अभिवादन किया था।

भूपेन की लव स्टोरी बेहद ही अलग है। भूपेन शादीशुदा थे लेकिन उनके प्यार में बॉलीवुड की फेमस डॉयरेक्टर कल्पना लाजमी इस तरह फना हुई जिसे वह मरते दम तक उनको प्यार करना नहीं छोड़ा है। खुद कल्पना ने अपनी किताब ‘में लिखा कि, मुझे उन्हें देखते ही प्यार हो गया था। और यह प्यार ऐसा था कि मैं इसे 40 वर्ष तक अपने आंखों में बसा कर रखा।

इंदौर एयरपोर्ट पर महिला के बैग से निकली मानव खोपड़ी

पेगासस केस: केंद्र सरकार ने सुप्रीम कोर्ट से मांगी और मोहलत, अब 13 सितंबर को सुनवाई

दुकान या ऑफिस में बिलकुल न लगाएं देवी-देवताओं की ऐसी तस्वीरें, होगा भारी नुकसान

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -