भोपाल: 50 प्रतिशत क्षमता के साथ खुलेंगे कोचिंग सेंटर

भोपाल: मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में भी कोरोना के मामले कम हो चुके हैं, ऐसे में कोचिंग सेंटर्स को 50 फीसदी क्षमता के साथ खोलने के आदेश जारी किये जा चुके हैं। बताया जा रहा है इस दौरान कोविड-19 नियमों का पालन करना अनिवार्य है। जी दरअसल देश में कोरोना की दूसरी लहर कमजोर होने लगी है ऐसे में कई राज्यों ने लॉकडाउन प्रतिबंधों में ढील देना शुरू कर दी है। वहीँ कई राज्यों में आने वाले दिनों में स्कूल-कॉलेज खोले जाने वाले हैं।

बात करें मध्य प्रदेश की तो यहाँ भी 50 प्रतिशत क्षमता के साथ कोचिंग सेंटर खोले जाएंगे। बीते कल ही मध्य प्रदेश के भोपाल जिले के कलेक्टर अविनाश लवानिया ने एक ऑफिशियल लेटर में कहा था कि, 'कोविड 19 प्रोटोकॉल का पालन करते हुए भोपाल में अब 50 प्रतिशत क्षमता के साथ कोचिंग सेंटर फिर से खोले जाएंगे।' इसी के साथ ही आदेश में ये भी कहा गया है कि, 'कोचिंग सेंटर्स को कोविड-19 प्रोटोकॉल का पालन करना होगा।'

आप सभी को हम यह भी बता दें कि कोचिंग सेंटर मालिकों का एक प्रतिनिधिमंडल बुधवार को मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से मिला था और उनसे इस मामले पर पॉजिटिव सोचने के लिए रिक्वेस्ट की थी। वहीँ उसके बाद मुख्यमंत्री ने कहा था कि कोचिंग संचालक अपने संस्थानों में कोरोना उपयुक्त व्यवहार का शत-प्रतिशत पालन सुनिश्चित करें। राज्य सरकार कोचिंग क्लासेज संचालित करने की अनुमति पर विचार कर रही है।

आपको बता दें कि शिवराज सिंह चौहान ने यह बात मध्यप्रदेश कोचिंग ऑनर्स एसोसिएशन के पदाधिकारियों से कही जो उनसे मिलने उनके आवास पर आये थे। वहीँ दूसरी तरफ प्रदेश के कोचिंग संचालकों के प्रतिनिधिमंडल ने विधायक रमेश मेंडोला की मौजूदगी में सीएम से मुलाकात की थी। वहीँ मध्य प्रदेश कोचिंग ऑनर्स एसोसिएशन के अध्यक्ष लक्ष्मी नारायण बकोरिया ने मुख्यमंत्री को बताया कि 'जिन छात्रों के माता-पिता का निधन कोरोना महामारी के कारण हुआ है, उनके लिए एसोसिएशन द्वारा मुफ्त कोचिंग और छात्रावास की व्यवस्था की गई है।'

किसी भी हालत में राज कुंद्रा को नहीं छोड़ना चाहती मुंबई पुलिस!, कहा- 'फरार होकर और अश्लील फ़िल्में।।।'

लीबिया ने शुरू किया सबसे बड़ा टीकाकरण केंद्र

महाराष्ट्र में मिले डेल्टा प्लस के 20 नए मरीज, 65 पहुंची संख्या

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -