मुंबई के बाद एमपी के इस शहर में कोरोना की हुई सबसे ज्यादा जांचे

भोपाल: देशभर में कोरोना का प्रकोप जारी है. इसकी रोकथाम के लिए प्रशासन हर संभव कोशिशे कर रहा है. वहीं, प्रति दस लाख आबादी पर कोरोना के संदिग्ध मरीजों की सबसे ज्यादा जांच कराने में भोपाल देश में दूसरे नंबर पर है. इस मामले में पहले नंबर पर मुंबई है. यहां प्रति दस लाख आबादी पर 78 हजार लोगों की जांच कराई गई है. दूसरे नंबर पर भोपाल में हर 10 लाख आबादी पर 25 हजार लोगों की जांच कराई जा रही है. मध्य प्रदेश की 8.50 करोड़ आबादी के मान से प्रति दस लाख आबादी पर 2630 सैंपल लिए गए हैं. जबकि देश की 1 अरब 35 करोड़ आबादी के मान से प्रति दस लाख आबादी पर 3749 सैंपल लिए गए हैं.

इस संबंध में भोपाल के कलेक्टर तरुण पिथोड़े व चिकित्सा विशेषज्ञों का कहना है कि ज्यादा सैंपल लेने से पॉजिटिव मरीजों का आंकड़ा भले बड़ा दिखाई देता है, लेकिन बीमारी को जल्दी पकड़ लिया जाता है. ऐसे में मरीजों की हालत बिगड़ नहीं पाती है. पूरे मध्यप्रदेश में हर दिन 6000 से 7000 सैंपलों की जांच 20 अलग-अलग लैब में की जा रही है. इनमें भोपाल के करीब 1200 सैंपल शामिल रहते हैं.

बता दें की मध्य प्रदेश में कोरोना का कहर लगातार जारी है. मध्य प्रदेश देश के 10 हजार से ज्यादा कोरोना संक्रमित वाले राज्यों में शामिल हो गया है. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़ों के अनुसार प्रदेश में कुल संक्रमितों की संख्या 10,049 हो गई है और मृतक संख्या 427 हो गई है. कुल संक्रमितों में अन्य राज्यों के संक्रमित मिले 112 मरीज व जमाती शामिल हैं. अब तक दूसरे राज्यों के 10 लोगों की प्रदेश में मौत हो चुकी है. उन्हें मिलाकर कुल मृतक 427 हो गए हैं. अच्छी बात यह है कि प्रदेश में 10 हजार से ज्यादा संक्रमित होने के बावजूद सक्रिय केस 2730 ही हैं. अब तक 6892 मरीज स्वस्थ हो चुके हैं.

मध्य प्रदेश में दस हजार के पार पहुंचा कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा, अब तक 427 ने तोड़ा दम

मध्य प्रदेश को मिली राहत, कोरोना रोगियों के स्वस्थ होने की दर बढ़ी

चुनाव आयोग को सुप्रीम कोर्ट ने भेजा नोटिस, आंध्र प्रदेश सरकार ने लगाई ​थी याचिका

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -