एक्सप्रेस-वे बनने से भोपाल-इंदौर के बीच की दुरी कम हो जायेगी

केंद्र सरकार ने मंगलवार को भोपाल-इंदौर के बीच प्रस्तावित एक्सप्रेस-वे को सैद्धांतिक मंजूरी दे दी है. भोपाल-इंदौर के बीच बनने वाला ये एक्सप्रेस सिक्स लेन बनाया जाएगा. एक्सप्रेस-वे  बनने के बाद भोपाल से इंदौर और इंदौर से भोपाल जाने में लोगों को कम समय लगेगा.  एक्सप्रेस-वे बनने के बाद अप-डाउन करने वाले लोगों का भी काफी समय बचेगा.  सिक्स लेन एक्सप्रेस-वे निर्माण पर लगभग तीन हजार करोड़ रुपए खर्च होंगे. 

एक्सप्रेस-वे निर्माण का सबसे बड़ा फायदा ये रहेगा कि भोपाल से इंदौर के बीच की दूरी कम हो कर दो घंटे हो जाएगी. प्रदेश सरकार एक्सप्रेस-वे को इकोनॉमिक कॉरिडोर की तरह विकसित करेगी. दअरसल प्रदेश सरकार इस निर्माण से व्यवसाय को सुविधा युक्त बनाना चाहती है.   
 

इस एक्सप्रेस-वे के नजदीक गांव भी नहीं होंगे. अभी भोपाल से इंदौर के लिए फोरलेन रोड का उपयोग हो रह है. हालांकि ये एक्सप्रेस-वे फोरलेन रोड से अलग रहेगा. एक्सप्रेस-वे के लिए जमीन अधिग्रहण का काम प्रदेश सरकार को करना है. इसके लिए केन्द्र सरकार से मंजूरी लेगा सड़क विकास निगम. केन्द्र सरकार इस प्रोजेक्ट के लिए भारत माला योजना के अंतर्गत पैसे जारी करेगी.  इकोनॉमिक कॉरिडोर बनाये जाने के लिए  भोपाल-इंदौर एक्सप्रेस-वे को भोपाल बायपास के साथ मंडीदीप से जोड़ा जाएगा. 

कैबिनेट में एमपी जनकल्याण योजना को मंजूरी

मध्य प्रदेश सरकार ने किये 24 आईएएस अधिकारियों के तबादले

सड़क हादसे में दस लोगों की मौत

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -