भोपाल एम्स में 50 रुपये से कम की सभी जांचें होंगी मुफ्त

भोपाल: अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) में मरीजों को 50 रुपये से कम शुल्क वाली जांच का पैसा नहीं देना होगा। जी हाँ, ऐसा होने उनका आर्थिक बोझ तो कम होगा ही साथ ही मरीज या स्वजन को लंबी कतार से भी मुक्ति मिल जाएगी। मिली जानकारी के तहत ऐसा साफ्टवेयर तैयार किया जा रहा है कि मरीजों को जांच रिपोर्ट भी आसानी से उपलब्ध हो जाए। वही यह भी कहा जा रहा है कि इसमें आगे चलकर ऐसी व्यवस्था की जाएगी कि मरीजों को आसानी से जांच रिपोर्ट मिल सके।

इस बारे में एम्स के अध्यक्ष डॉ. वायके गुप्ता ने बीते सोमवार को पत्रकारों को जानकारी दी। जी दरअसल उन्होंने अस्पताल अधीक्षक डॉ. मनीषा श्रीवास्तव से एक-दो दिन के भीतर यह सुविधा शुरू करने को कहा है। जी दरअसल अध्यक्ष ने बीते सोमवार को अस्पताल का भ्रमण किया और इस दौरान जांच के लिए बिलिंग कराने वालों की लंबी कतार देखने के बाद उन्होंने यह निर्णय लिया है।

ऐसे में उन्होंने बताया कि ओपीडी पंजीयन का समय आधे से एक घंटे तक बढ़ाया जाएगा। इसी के साथ उन्होंने यह भी कहा है अस्पताल में सोशल वर्कर्स को जिम्मेदारी दी गई है कि कतार में लगे बुजुर्ग, बच्चे के साथ कतार में लगी महिला को कतार से निकालकर उनकी मदद करें। वहीं डॉ. गुप्ता ने बताया कि, 'रिसर्च प्रोजेक्ट, शोध पत्रों के प्रकाशन के मामले में एम्स भोपाल एम्स दिल्ली के बाद देश में दूसरे नंबर पर है। यहां के करीब 150 शोध पत्र हर साल प्रकाशित होते हैं।' आपको बता दें कि इस दौरान फोरेंसिक मेडिसिन विभाग की एचओडी व एम्स की प्रवक्ता डॉ. अरनीत अरोरा, चिकित्सा अधीक्षक डॉ. मनीषा श्रीवास्तव, डीन रिसर्च डॉ. देवाशीष विश्वास मौजूद थे।

तीसरे पति से छिपाई दूसरी शादी की सच्चाई, अब महिला के खिलाफ कोर्ट में सुनवाई

नवरात्रि के लिए प्रशासन ने जारी की गाइडलाइन्स, जानिए किन-किन चीज़ों पर रहेगी रोक

नो पार्किंग जोन में गाड़ी खड़ी कर फंसे सांसद शंकर लालवानी, कटा चालान

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -