दर्दनाक: भोपाल गैस त्रासदी की पूरी कहानी, चीख-पुकार करते मौत की गोद में सो गए हज़ारो लोग

भोपाल: भोपाल गैस त्रासदी (Bhopal Gas Tragedy 37th Anniversary) को आज भी भारतीय भूल नहीं पाए हैं। आपको बता दें कि इस गैस कांड को आज 37 साल हो गए हैं। यह दिन इतिहास के पन्नों में दर्ज सबसे दर्दनाक दिन है। यह ऐसी घटना है जो आज भी लोगों के जहन में जिन्दा है। इस घटना ने रातों रात हजारों जिंदगियों को तबाह कर दिया है। यह घटना 2-3 दिसंबर 1984 की रात मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में हुई थी जिसने भारत सहित पूरे विश्व को हिलाकर रख दिया था। आप सभी जानते ही होंगे कि भोपाल में 2-3 दिसंबर की सर्द भरी रात में जब सभी लोग सो रहे थे तब अचानक यहां के यूनियन कार्बाइड इंडिया लिमिटेड के प्लांट से जहरीली गैस का रिसाव शुरु हो गया। कुछ ही समय में यह जहरीली गैस पूरे शहर में तेजी से फैल गयी और जब तक लोग समझ पाते तब तक बहुत देर हो चुकी थी।

देखते ही देखते इस गैस से हजारों जिंदगियां हमेशा के लिए मौत के गले लग गई। यह पूरा हादसा यूनियन कार्बाइड इंडिया लिमिटेड के पेस्टिसाइड प्‍लांट में गैस रिसाव के कारण हुआ था। आपको पता ही होगा इस दर्दनाक हादसे के बाद यूनियन कार्बाइड के मुख्‍य प्रबंध अधिकारी वॉरेन एंडरसन रातों रात भारत छोड़कर अमेरिका भाग गए। उस समय हुई इस दर्दनाक घटना ने सभी को हैरान कर दिया था। भोपाल गैस त्रासदी को कई साल बीत चुके हैं लेकिन एक कड़वा सच आज भी बना हुआ है जो यह है कि इस घटना में हुई मौत का सही आंकड़ा कभी सामने नहीं आ सका है। इस पूरी घटना के बाद आसपास की बस्तियों में रहने वाले लोगों को घुटन, खांसी, आंखों में जलन, पेट फूलना और उल्टियां तक होने लगी। उसके बाद कुछ ही देर में अस्पताल में मरीजों की भारी भीड़ पहुंचने लगी।

आपको बता दें कि इस त्रासदी की घटना के बाद जिन बच्चों ने वहां जन्म लिया उसमें से कई विकलांग पैदा हुए और कई किसी अन्य बीमारी के साथ इस दुनिया मे आये। वहीं इस घटना को लेकर 7 जून 2010 को स्थानीय कोर्ट ने फैसला भी सुनाया, हालाँकि आरोपियों को केवल दो-दो साल की सजा सुनाई गई थी और बाद में सभी आरोपी जमानत पर रिहा हो गए। वहीं यूनियन कार्बाइड इंडिया लिमिटेड के तत्कालीन चीफ और इस त्रासदी के मुख्य आरोपी वॉरेन एंडरसन की भी मौत 29 सिंतबर 2014 को हो गयी।

आज इन राज्यों में होगी भारी बारिश और जमकर बढ़ेगी ठण्ड

लिंग परिवर्तन कराकर 'पुरुष' बनेगी महिला पुलिसकर्मी, मध्य प्रदेश का पहला मामला

भोपाल सुसाइड मामला: शिवराज सरकार पर भड़की कांग्रेस

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -