Bhoot Police Review: न डरा पाती है और न हंसा पाती है 'भूत पुलिस'

बॉलीवुड फिल्म भूत पुलिस आज रिलीज कर दी गई है। भूत पुलिस फिल्म में आप सैफ अली खान, अर्जुन कपूर, यामी गौतम और जैकलीन को देख रहे होंगे। ऐसे में आइए जानते हैं कैसी है फिल्म।

 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 

A post shared by Yami Gautam Dhar (@yamigautam)

फिल्म- भूत पुलिस
कलाकार- सैफ अली खान, अर्जुन कपूर, यामी गौतम, जैकलीन फर्नांडीज, जावेद जाफरी, राजपाल यादव, अमित मिस्त्री
निर्देशन- पवन कृपलानी
डायरेक्शन- रमेश तौरानी
रेटिंग- 2.5 स्टार

कहानी- डिज्नी हॉटस्टार पर रिलीज हुई भूत पुलिस लगभग दो घंटे की है। इस फिल्म में दो भाई हैं और दो बहनें हैं। सगे भाइयों विभूति  वैद्य (सैफ अली खान) और चिरौंजी वैद्य (अर्जुन कपूर) के पिता तांत्रिक थे। वहीँ भाइयों के पास विरासत में मिली पांच हजार साल पुरानी किताब है। सभी किताबों में भूतों को वश में करने, पराजित करने और इस संसार से मुक्त करने के सूत्र हैं। वहीँ किताब की पुरानी भाषा पढ़ी नहीं जा सकती। वहीँ दूसरी तरफ विभूति ने उम्र में अपने से कहीं छोटे चिरौंजी को पाल-पोस कर बड़ा किया और दोनों भूत भगाने के लिए यहां-वहां बुलाए जाते हैं। केवल यही नहीं बल्कि दोनों फीस के साथ जीएसटी भी मांगते हैं। विभूती मानता है कि भूत-प्रेत नहीं होते और दुनिया वहम में जीती है। वहीँ चिरौंजी का पारलौकिक संसार और किताब में पूरा विश्वास है। ऐसे में दोनों सदा प्यार भरी नोंक-झोंक में उलझे रहते हैं और एक दिन उन्हें ढूंढते हुए भूत-मेले में धर्मशाला के नजदीक सिलावट इस्टेट के चाय बागानों की मालकिन माया (यामी गौतम) पहुंचती है। जी दरअसल विभूति-चिरौंजी के पिता ने 27 साल पहले उनके इस्टेट को एक प्रेतनी, जिसे स्थानीय भाषा में कचकंडी कहते हैं, से मुक्त किया था। अब वह वापस आ गई है। ऐसे में दोनों भाई जाते हैं तो पता चलता है कि माया की बहन कनिका (जैकलीन फर्नांडिस) भी है। वहीँ वह माया से ठीक विपरीत इन बातों को नहीं मानती और गुजर चुके पिता की जायदाद में अपना हिस्सा लेकर मॉडर्न जिंदगी जीना चाहती है। अब क्या है पूरा मामला? क्या सचमुच कचकंडी है? क्या ड्रामा चल रहा है? क्या सचमुच भूत हैं? भूत झूठ हैं तो क्या है पूरा मामला? भूत सच हैं तो विभूती-चिरौंजी कुछ कर पाते हैं या नहीं? यह सब जानने के लिए आपको फिल्म देखनी होगी।

कैसा है अभिनय- फिल्म में अर्जुन का किरदार संजीदा है। वहीँ सैफ अली खान ने अपना पूरा जोर लगाया है। यामी और जैकलीन ने अधिक अच्छा अभिनय नहीं किया है।

कैसा है लेखन-निर्देशन- भूत पुलिस फिल्म का लेखन-निर्देशन साधारण है और यह चिर-परिचित-पुरानी बातें दोहराती हैं। फिल्म की कहानी अधिक प्रभावित नहीं करतीं। 

कैसी है फिल्म- भूत पुलिस न तो डरा ही पाती है और न हंसा पाती है। यानि आप अगर समय निकालना चाहते हैं तो फिल्म देख सकते हैं।

बड़ी खबर: भारत को अगले हफ्ते मिल सकती है कोरोना की सिंगल डोज़ वैक्सीन

ओवैसी के खिलाफ सांप्रदायिक सौहार्द बिगाड़ने का केस दर्ज, बाराबंकी में दी थी 'हेट स्पीच'

राजनीति में आने के सवाल पर कंगना रनौत ने दिया चौकाने वाला जवाब

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -