कांग्रेस की हुई भोजपुरी ग्लैमर गर्ल रानी चटर्जी, बोलीं- एक और लड़की लड़ने के लिए तैयार

लखनऊ: उत्तर प्रदेश की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा के साथ रानी चटर्जी की तस्वीर देखकर फैंस यही कयास लगा रहे हैं कि रानी को अब कांग्रेस की तरफ से टिकट मिलने वाला है. हालांकि मीडिया से बात करते हुए रानी ने कहा है कि फिलहाल वह चुनाव नहीं लड़ रही हैं अभी तो उन्हें ब्रांड एम्बेसडर बनाया गया है. रानी ने कहा कि, मैं यूपी में कांग्रेस का कैंपेन कर रही हूं. तो फैंस को स्पष्ट कर दूं कि अभी चुनाव लड़ नहीं रही हूं. मौका मिलेगा तो चुनाव में जरूर खड़ी होऊंगी. हालांकि इसकी शुरूआत तो मैंने कर दी है.

 

'लड़की हूँ लड़ सकती हूँ' वाली प्रियंका गांधी की मुहीम पर रानी कहती हैं कि, प्रियंका जी ने जो महिलाओं के लिए यह अभियान शुरू किया है, इसने मुझे काफी प्रभावित किया है. इसमें आठ लाख महिलाओं को नौकरी देने का वादा किया गया है. मैं यह जानती हूं कि यूपी की महिलाओं को सपोर्ट की काफी आवश्यकता है. वहां की लड़कियां बहुत टैलेंटेड हैं, उन्हें घर से बाहर निकालकर मौका देने की आवश्यकता है. मैं इस मुहीम में एक ब्रांड एम्बेसडर के रूप में इसका प्रचार करूंगी. अभियान से जुड़ने पर रानी कहती हैं, मैं खुद को इस मामले में बहुत भाग्यशाली मानती हूं कि मुझे इस योग्य समझा गया. 

रानी ने कहा कि मुझे प्रियंका जी के दफ्तर से कॉल आया और इस मुहीम के बारे में बताया गया. साथ ही पूछा कि क्या आप साथ देना चाहेंगी. मैंने फौरन हाँ कर दी. मैं ईमानदारी से कहूं, तो कभी भी किसी पार्टी के प्रति मेरा सियासी झुकाव नहीं रहा है. मैं हमेशा से नारी शक्ति के समर्थन में रही हूं, यदि मुझे समाज के लिए कुछ करने का मौका मिल रहा है, तो उसे कैसे इंकार कर सकती हूं. एक नागरिक के तौर पर हम देख ही रहे हैं कि जनता इस समय क्या झेल रही है, मुझे दिखाई दे रहा है. इसलिए जनता के लिए कुछ करने का मौका मिला, तो मैं आगे आ गई. 

बता दें कि सोशल मीडिया व फिल्मों में रानी का ग्लैमरस अवतार देखने को मिलता रहा है. ऐसे में वे इमेज को लेकर कितनी सजग होंगी. इसके जवाब में रानी ने कहा कि, पॉलिटिशियन बनने के बाद भी मेरे व्यवहार में कोई परिवर्तन नहीं आने वाला है. जैसी रानी थी, वैसे ही रहेगी. न जिम छुटेगा, न फिल्म छुटेगी और न ही मेरे अकाउंट से ग्लैमर खत्म होगा. सब बना रहेगा. मेरा कोई पुर्नजन्म नहीं हुआ है, मैं गीता से सीता तो नहीं बन जाऊंगी. मैंने सिर्फ एक नई जिम्मेदारी अपने कंधे पर उठाई है.

आंध्र प्रदेश पुलिस ने गणतंत्र दिवस पर भी 'जिन्ना टॉवर' पर नहीं फहराने दिया तिरंगा, कई गिरफ्तार

जब सिद्धार्थ का शव देख फूट-फूटकर रोईं थीं शहनाज, कहा था- 'मम्मी जी, मेरा बच्चा...अब मैं कैसे जियूँगी'

गणतंत्र दिवस पर उत्तराखंड की टोपी और मणिपुर का गमछा पहने दिखे पीएम मोदी, जानें इसके सियासी मायने

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -