भीमा कोरेगांव मामला: एक्टिविस्‍टों को रिहाई मिलेगी या कैद, आज सुप्रीम कोर्ट करेगी तय

Sep 06 2018 09:48 AM
भीमा कोरेगांव मामला: एक्टिविस्‍टों को रिहाई मिलेगी या कैद, आज सुप्रीम कोर्ट करेगी तय

मुंबई। महाराष्ट्र के पुणे के भीमा कोरेगांव में भड़की हिंसा के मामले में आज देश की सर्वोच्च अदालत सुप्रीम कोर्ट फिर सुनवाई करेगी। सुप्रीम कोर्ट की इस सुनवाई में तय होगा की इस मामले में  नजरबन्द किये गए इन  एक्टिविस्‍टों को रिहा कर दिया जायेगा या उन्हें पुलिस के हवाले सौपा जाएगा। 

आखिर क्या है भीमा कोरेगांव मामला ?

इस मामले की सुनवाई सुप्रीम कोर्ट के मुख्‍य न्‍यायाधीश दीपक मिश्रा की अध्यक्षता वाली बेंच द्वारा आज दोपहर दो बजे से शुरू की जाएगी। आपको बता दे कि पिछली सुनवाई में कोर्ट ने इस मामले में महाराष्ट्र सरकार को नोटिस जारी कर उनसे एक हफ्ते के अंदर अंदर जवाब मांगा था और पांचों मानवाधिकारियों को राहत देते हुए उन्हें 6 सितंबर तक घर में ही नजरबंद रखे जाने का आदेश दिया था। 

उल्लेखनीय है कि भीमा कोरेगांव में हुई हिंसा के मामले में महाराष्ट्र पुलिस ने 28 अगस्त के दिन कई सामाजिक कार्यकर्ताओं के घरों पर छापेमारी की थी। इस छापेमारी के बाद पुलिस ने भीमा कोरेगाँव में हिंसा भड़काने के आरोप में सुधा भारद्वाज, वरवरा राव और गौतम नवलखा समेत पांच लोगों को ग़िरफ़्तार कर लिया गया था। इन एक्टिविस्‍टों की गिरफ्तारी का देश में काफी विरोध हो चुका है। 

ख़बरें और भी 

भीमा कोरेगाव मामला: पुणे पुलिस ने चार्जशीट दाखिल करने के लिए मांगी मोहलत

भीमा कोरेगांव मामले पर अभिनेत्री ने दिया एक और बयान

भीमा कोरेगाव मामला: प्रत्यक्षदर्शी राहुल दाम्ब्ले ने पुणे पुलिस पर लगाए गंभीर आरोप

भीमा कोरेगांव हिंसा: गिरफ्तार लोगों ने रचा था सरकार के खिलाफ षड्यंत्र, महाराष्ट्र पुलिस ने किया सबूत होने का दावा

 

?