भर्तृहरि महताब ने ली प्रोटेम स्पीकर पद की शपथ, संसद सत्र के पहले ही दिन विरोध में उतरी कांग्रेस, TMC और DMK

भर्तृहरि महताब ने ली प्रोटेम स्पीकर पद की शपथ, संसद सत्र के पहले ही दिन विरोध में उतरी कांग्रेस, TMC और DMK
Share:

नई दिल्ली: आज से 18वीं लोकसभा के सत्र का आगाज़ हो रहा है। सबसे पहले तो इस सत्र में तमाम सांसदों का शपथ ग्रहण है, जिसमें प्रोटेम स्पीकर भर्तृहरि महताब सभी सांसदों को शपथ ग्रहण करवाएंगे। सबसे पहले राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू ने 7 बार के भाजपा सांसद भर्तृहरि महताब को प्रोटेम स्पीकर की शपथ ग्रहण करवाई है। इसके साथ ही लोकसभा के स्पीकर पद पर चुनाव भी होगा। 

वहीं, कांग्रेस, तृणमूल कांग्रेस (TMC) और DMK संसद सत्र शुरू होने से पहले ही विरोध की मुद्रा में आ गई हैं। वे भर्तृहरि महताब को प्रोटेम स्पीकर बनाने का विरोध कर रहीं हैं। इन विपक्षी दलों का कहना है कि,  कांग्रेस के सांसद के सुरेश को प्रोटेम स्पीकर बनाया जाना चाहिए, जो 8 बार सांसद रहे हैं, जबकि महताब केवल 7 बार के सांसद हैं। जबकि इस संबंध में भाजपा का कहना है कि, कांग्रेस सांसद के सुरेश के सारे 8 कार्यकाल लगातार नहीं आए हैं, वहीं महताब ने लगातार 7 बार एक ही सीट से जनता का भरोसा हासिल किया है। केंद्रीय संसदीय कार्य मंत्री किरेन रिजिजू ने कांग्रेस की आपत्ति पर कहा है कि, ''मैंने सभी नेताओं से मुलाकात की। अभी-अभी मैंने DMK संसदीय दल के नेता टीआर बालू से मुलाकात भी की। सभी नेतागण इस बात पर सहमत हैं कि भारतीय संसद के इतिहास में प्रोटेम स्पीकर कभी विवाद का विषय नहीं रहा और प्रोटेम स्पीकर की नियुक्ति मूल रूप से केवल नवनिर्वाचित सदस्यों को शपथ दिलाने और नए अध्यक्ष के चुनाव में मदद करने के लिए की जाती है, इसपर विरोध नहीं होना चाहिए।' 

कांग्रेस ने अकबरुद्दीन ओवैसी को बनाया था प्रोटेम स्पीकर:-

बता दें कि, कुछ समय पहले हुए तेलंगाना विधानसभा चुनाव में कांग्रेस ने BRS और AIMIM गठबंधन को हराकर सत्ता हासिल की थी। फिर जब विधानसभा में प्रोटेम स्पीकर बनाने की बारी आई, तो कांग्रेस ने AIMIM विधायक अकबरुद्दीन ओवैसी को ये पद दे दिया, जबकि विधानसभा में कई वरिष्ठ विधायक मौजूद थे, जो 8-8 बार चुनकर आ चुके थे। कांग्रेस के इस फैसले ने इसलिए भी चौंकाया था, क्योंकि पार्टी नेताओं ने चुनाव प्रचार के दौरान ओवैसी बंधुओं को काफी भला-बुरा कहा था। राहुल गांधी ने तो यहाँ तक नारा दे दिया था कि, मोदी जी के दो यार ओवैसी और KCR। हालाँकि, जब कांग्रेस जीती, तो उन्ही ओवैसी को प्रोटेम स्पीकर पद दे दिया गया। इसे मुस्लिम तुष्टिकरण से भी जोड़कर देखा गया था, जो कांग्रेस का मुख्य वोट बैंक माना जाता है।  हालाँकि, अब वही कांग्रेस, भर्तृहरि महताब को प्रोटेम स्पीकर बनाए जाने का विरोध कर रही है। आज संसद सत्र का पहले ही दिन, सदन में जमकर हंगामा होने के आसार हैं। 

'आपके घर से डेढ़ करोड़ का सोना निकलेगा..', रांची में मौलाना ने रेहड़ी वाले से की साढ़े 3 लाख की ठगी

मानसून तेज होने से पहले बाढ़ से निपटने की तैयारियां शुरू, अमित शाह ने ली हाई लेवल मीटिंग

ओडिशा के 14 लोगों ने सनातन धर्म में की घर वापसी, बोले- धोखे में आकर बन गए थे ईसाई

  
 

रिलेटेड टॉपिक्स
- Sponsored Advert -
Most Popular
मध्य प्रदेश जनसम्पर्क न्यूज़ फीड  

हिंदी न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_News.xml  

इंग्लिश न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_EngNews.xml

फोटो -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_Photo.xml

- Sponsored Advert -