भगवंत मान को खाली करना होगा दिल्ली का सरकारी बंगला, केंद्र सरकार ने दिया नोटिस

अमृतसर: लोकसभा सचिवालय ने पंजाब के सीएम और आम आदमी पार्टी (AAP) नेता भगवंत मान के खिलाफ सरकारी बंगले पर 'अनधिकृत' कब्जे को लेकर बेदखली की कार्यवाही शुरू करने के निर्देश जारी किए हैं। बता दें कि भगवंत मान को दिल्ली में सरकारी आवास मिला हुआ था। मगर सांसद पद से इस्तीफे के बाद अब इस बंगले को वापस लिया जाएगा।

रिपोर्ट के अनुसार, भगवंत मान ने मार्च में ही संगरूर के सांसद पद से त्यागपत्र दे दिया था। लोकसभा सचिवालय ने 17वीं लोकसभा के सदस्य के रूप में सचिवालय ने कहा कि मान को केंद्र सरकार ने डुप्लेक्स नंबर 33, नॉर्थ एवेन्यू आवंटित किया गया था। साथ ही कहा कि ये आवंटन 14 अप्रैल से निरस्त कर दिया गया है, मगर उन्होंने अभी तक बगंला खाली नहीं किया है। लोकसभा सचिवालय ने सम्पदा अधिकारी से कहा कि भगवंत मान को बंगले से बेदखल करने की कार्यवाही शुरू की जाए। साथ ही इस बाबत आदेश पारित किए जाएं। वहीं, पंजाब के मुख्यमंत्री कार्यालय (CMO) की तरफ से इस बारे में कोई भी प्रतिक्रिया नहीं आई है।  

बता दें कि दिल्ली में तैनाती के दौरान केंद्र के कर्मचारियों, सांसदों, न्यायाधीशों और गणमान्य व्यक्तियों को दिल्ली में आवास दिए जाते हैं। इस दौरान जब उनकी सर्विस अवधि समाप्त हो जाती है या फिर वक़्त से पहले ही उनका कार्यकाल खत्म हो जाता है, तो उन्हें सरकारी आवास खाली करना होता है। इसके लिए केंद्र सरकार के संपत्ति अधिकारी की तरफ से संबंधित व्यक्ति को एक नोटिस भेजा जाता है। तीन दिन के भीतर इसका जवाब देना होता है।

'सपा अगर मेरा साथ ले लेती, तो आज सत्ता में होती...', शिवपाल ने भरी विधानसभा में भतीजे अखिलेश को मारा ताना

बादाम, पनीर, लस्सी.. क्या किसी कैदी को जेल में ये सब मिलता है ? सिद्धू को मिलेगा

'सांसदों के बैठने के लिए सीट तक नहीं...', गुस्से में LG का शपथग्रहण समारोह छोड़कर चले गए पूर्व केंद्रीय मंत्री हर्षवर्धन

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -