जानिए सही समय में गर्भधारण के लाभ

जानिए सही समय में गर्भधारण के लाभ

आज के बदलते समय में लड़कियों की शादी से पहले करियर को प्राथमिकता देने लगे है। उनकी शादी की उम्र भी बढ़ने लगी है। अब लड़कियों के लिए 30 के बाद शादी करना कोई बहुत बड़ी बात नहीं है। इसी के साथ ही देर से शादी करना देर से गर्भधारण  करने का कारण भी बन गया है। लेकिन इन सब के बीच यह सवाल उठता है की गर्भावस्था की सही उम्र क्या होनी चाहिए। तो  चलिए आज इस आर्टिकल में हम आपको बताते है सही समय में गर्भधारण के लाभ

क्या होती है गर्भधारण की सही उम्र 

1. यह तो सभी जानते है कि आमतौर पर लड़कियां शारीरिक तौर पर लड़को से समय से पहले तैयार हो जाती है, यानि लड़कियों में हॉर्मोन 12 से 13 की उम्र में बदलने लगते है। 

2. कहने का मतलब है की लडकिया की गर्भधारण के लिए उम्र कम से कम 18 से 19 साल होनी चाहिए। 

3. वैसे क़ानूनी तौर पर लड़कियों की शादी 18 साल के बाद होनी चाहिए। साथ ही इस 18 की उम्र के बाद मां बनने से लड़कियों को गर्भधारण के समय शारीरिक समस्या का कम से कम सामना करना पड़ेगा। 

क्यों न करे कम या ज्यादा उम्र में बच्चा 

1. एक स्टडी में भी यह बात साबित हो चुकी है की गर्भ धारण के लिए उम्र 18 से 35 तक होती है। इससे कम उम्र होने या अधिक उम्र होने पर महिलाओ को कई शारीरिक प्रॉब्लम हो सकती है। 

2. जो महिलाएं 35 के बाद या 18 से पहले गर्भ धारण करती है। उनके बच्चे मानसिक रूप से कमजोर होते है। साथ ही ऐसे बच्चे समान्य पैदा हुए बच्चे के मुकाबले शारीरिक और मानसिक तोर से कमजोर होते है। 

3. जो महिलाएं 35 की उम्र के बाद गर्भ धारण करती है उनमे गर्भपात का खतरा भी बढ़ जाता है। इतना ही नहीं ऐसी महिलाओं को प्रसव के बाद भी कई तरह की बीमारियां या फिर शारीरक प्रोब्लेम्स को झेलना पड़ता है। 

कम उम्र में मां बनने के जोखिम 

1. The United Nations Population Fund (UNFPA) के अनुसार हर वर्ष 18 साल से कम उम्र की करीब 73 लाख लड़कियां मां बनती है। जिसकी वजह से मां और बच्चे के स्वस्थ के लिए कई चिंताए पैदा हो जाती है। 

2. इन 73 लाख में से भी करीब 20 लाख लड़कियां वे होती है, जिनकी उम्र 14 साल या उससे भी कम होती है। ऐसी लड़कियों को भविष्य में कई स्वस्थ से जुडी परेशानी हो जाती है, जिसके कुपरिणाम भी होते है, और इन लड़कियों की मौत होने का खतरा भी होता है।