ओमीक्रॉन से लड़ने के लिए तैयार पश्चिम बंगाल, इन दो अस्पतालों में होगा इलाज

कोलकाता: पश्चिम बंगाल कोरोना के नए वेरिएंट ओमीक्रॉन (Omicron) से लड़ने की तैयारी आरम्भ कर दी है। यहाँ कोलकाता और आस-पास ओमीक्रान से संक्रमित लोगों के इलाज के लिए अस्पताल चयन कर लिया गया है। जी दरअसल कोलकाता के बेलियाघाटा आईडी (Beliaghata ID) और एमआर बांगुर अस्पताल (MR Bangur Hospital) में ओमीक्रॉन के मरीजों का इलाज किया जाएगा। वैसे तो अब तक राज्य में ओमीक्रॉन का कोई निशान नहीं मिला है लेकिन पहले ही यहाँ तैयारी की जा रही है।

आपको बता दें कि ओमीक्रॉन के खतरे के बीच पश्चिम बंगाल में कोरोना संक्रमण में कमी जारी है। यहाँ स्वास्थ्य विभाग की ओर से जारी हेल्थ बुलेटिन में यह सामने आया है कि 24 घंटे के दौरान 621 लोग कोरोना पॉजिटिव मिले हैं। 24 घंटे के दौरान 40 हजार 362 लोगों के सैंपल जांचे गए हैं। इसी के साथ राज्य सरकार ने एक बयान में यह भी कहा है कि, 'ओमीक्रॉन वेरिएंट को नियंत्रित करने के लिए एयरपोर्ट अथॉरिटी, ट्रांसपोर्ट, हेल्थ और विभिन्न विभागों के समन्वय से स्वास्थ्य मंत्रालय के नियमों के मुताबिक काम करना जरूरी है।'

इसी के साथ राज्य के मुख्य सचिव एचके द्विवेदी ने निर्देश जारी किया है और कहा है कि 'विदेश से एयरपोर्ट आने वालों को स्वास्थ्य मंत्रालय के नियमों के मुताबिक आरटी पीसीआर टेस्ट कराना होगा। यदि परीक्षण रिपोर्ट सकारात्मक है, तो व्यक्ति को बेलियाघाटा आईडी अस्पताल ले जाया जाएगा। वहां, व्यक्ति की लार के नमूने एकत्र किए जाएंगे और कल्याणी के जीनोम अनुक्रम प्रयोगशाला में भेजे जाएंगे। यदि जीनोम परीक्षण रिपोर्ट से एक ओमिक्रान पाया जाता है, तो उसका इलाज बेलियाघाटा आईडी या एमआर बांगुर अस्पताल में एक अलग आइसोलेशन वार्ड में किया जाएगा।' आपको यह भी बता दें कि यहाँ दोनों अस्पतालों में कुल 100 बिस्तरों, 50-50 बिस्तर बनाए गए है।

ASI पर युवती ने लगाया सगीन इलज़ाम, जानिए क्या है पूरा मामला

IIT गांधीनगर ने इन पदों पर निकाली भर्तियां, जल्द करें आवेदन

अजब-गजब! भूत ने डाली थी 12 लाख की डकैती, पूछताछ में हुआ हैरतअंगेज खुलासा

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -