विधान परिषद चुनाव से पहले तेजप्रताप के संगठन ने की हिस्सेदारी की मांग

पटना: चुनावों को लेकर राज्यों में सियासी हलचल काफी बढ़ गई है इस बीच बिहार में स्थानीय निकाय प्राधिकार निर्वाचन क्षेत्र से निर्वाचित होने वाले विधान परिषद की 24 सीटों को लेकर राजनितिक दलों ने तैयारी शुरू कर दी है. इस बीच, राष्ट्रीय जनता दल के नेता तेजप्रताप यादव के संगठन ने सीटों में अपनी भागेदारी की मांग को लेकर राष्ट्रीय जनता दल की समस्या बढ़ा दी है. हालांकि, यह अलग बात है कि अब तक तेजप्रताप ने इस बयान का सपोर्ट नहीं किया है.

वही तेजप्रताप यादव के संगठन छात्र जनशक्ति परिषद के प्रदेश अध्यक्ष प्रशांत प्रताप यादव ने विधान परिषद की 6 सीटों की मांग करते हुए बताया कि बिहार के अधिकांश विद्यार्थी तथा युवा तेज प्रताप यादव के साथ हैं. तेजप्रताप यादव के छात्र जनशक्ति परिषद से बिहार के अधिकांश युवा जुड़ चुके हैं. ऐसे हालात में राष्ट्रीय जनता दल इस चुनाव में कम से कम 25 प्रतिशत सीटों पर प्रत्याशियों को चुनने का काम तेजप्रताप यादव के जिम्मे छोड़ दें.

उन्होंने यहां तक कहा कि यदि राष्ट्रीय जनता दल विधान परिषद की 6 सीटें छात्र जनशक्ति परिषद को देती है तो छात्र जनशक्ति परिषद का पूरा समर्थन राष्ट्रीय जनता दल के प्रत्याशियों को प्राप्त होगा. वही इस बयान के पश्चात् राष्ट्रीय जनता दल का कोई भी नेता इस मामले में खुलकर नहीं बोल रहा हैं. तेजप्रताप के संगठन द्वारा इस मांग के पश्चात् राष्ट्रीय जनता दल की परेशानी बढ़ती दिखाई दे रही है. इस बयान को लेकर तेजप्रताप ने हालांकि अब तक अपना मुंह नहीं खोला हैं. वैसे, ऐसा नहीं कि तेजप्रताप अपनी पार्टी के विरुद्ध बगावती तेवर कभी नहीं अपनाया है. तेजप्रताप कई अवसरों पर अपनी पार्टी के खिलाफ बयान दे चुके हैं. ऐसे में अब विरोधी पार्टियां भी राष्ट्रीय जनता दल में मचे इस घमासान को लेकर बयानबाजी शुरू कर दी है. बीजेपी प्रदेश उपाध्यक्ष राजीव रंजन ने कहा कि दोनों युवराजों को बैलेंस करने के चक्कर में एक ओर राष्ट्रीय जनता दल की लुटिया डूब रही है, दूसरी ओर इनके शेखचिल्ली बयानवीर नेता अभी भी सरकार में आने के ख्याली पुलाव बनाने में मगन है.

बिक्रम मजीठिया को हाई कोर्ट ने दी अग्रिम जमानत, सिद्धू और चन्नी को बड़ा झटका

पंजाब की दो सीटों से चुनाव लड़ेंगे चरणजीत चन्नी, हार का डर या कोई और प्लान ?

'प्रचार कांग्रेस का, तस्वीरें भाजपा की..', सोशल मीडिया पर फिर बना पार्टी का 'मजाक'

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -