मिश्रा का बड़ा बयान कहा- सचिन पाजी के साथ बल्लेबाजी करना टेस्ट करियर का यादगार पल

भारत के अनुभवी लेग स्पिनर अमित मिश्रा ने इंग्लैंड के खिलाफ 2011 टेस्ट सीरीज में खेली गई अपनी 84 रनों की पारी को याद किया है. मिश्रा ने इस सीरीज के चौथे टेस्ट मैच में सचिन तेंदुलकर के साथ बल्लेबाजी की थी जिसे वो अपने टेस्ट करियर के सबसे यादगार पलों में गिनते हैं. लंदन के केनिंग्टन ओवल मैदान पर खेले गए सीरीज के चौथे मैच में मिश्रा ने पहली पारी में 43 रन बनाए थे और फिर दूसरी पारी में 84 रन बनाए थे. इस दौरान उन्होंने सचिन के साथ बल्लेबाजी की थी जिन्होंने 91 रनों की पारी खेली थी. हालांकि इन दोनों के प्रयास जाया चले गए थे क्योंकि भारत को उस मैच में हार मिली थी.

मिश्रा ने अपनी IPL फ्रेंचाइजी दिल्ली कैपिटल्स के साथ इंस्टाग्राम पर बात करते हुए कहा, "मुझे सचिन पाजी के साथ बल्लेबाजी करने पर गर्व है. मुझे लगता है कि वो मेरे टेस्ट करियर के सबसे यादगार पलों में से एक है. हम 2011 में इंग्लैंड के दौरे पर थे. मैंने पहली पारी में 43 रन बनाए थे." उन्होंने कहा, "दूसरी पारी में हमें फॉलोऑन मिला था और हमें हार टालने के लिए खेलना था. मैं नाइटवॉचमैन की तरह गया था और सचिन पाजी ने पूरा पारी के दौरान मेरा मार्गदर्शन किया था."

दाएं हाथ के इस बल्लेबाज ने कहा, "हमारे लिए जरूरी था कि हम सुबह के सत्र को निकाल दें और मैंने 84 रन जबकि पाजी ने 91 बनाए. लेकिन मुझे इस बात का पछतावा है कि हम टेस्ट मैच हार गए." मिश्रा ने कहा कि वह आठ साल दिल्ली में गुजार चुके हैं और इसलिए इस IPL टीम से जुड़ाव महसूस करते हैं. उन्होंने कहा, "आठ साल बिताने के बाद मैं दिल्ली कैपिटल्स से भावनात्मक तौर पर काफी जुड़ा हुआ महसूस करता हूं. मुझे लगता है कि यह टीम मेरे डीएनए का हिस्सा है. मेरा लक्ष्य हमेशा से 100 फीसदी से ज्यादा देना होता है."

मेसी ने अर्जेंटीना के अस्पताल में दिया कई लाख डॉलर का दान

2020 : सेबेस्टियन वेट्टेल का फेरारी कंपनी के साथ होगा अंतिम सीजन

जानिए दिग्गज क्रिकेटर जॉफ्रा के जीवन से जुड़ी कुछ ख़ास बातें

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -