लाठीचार्ज से नाराज़ मधेसी प्रदर्शनकारियों ने नेपाल पुलिस को खदेड़ा

लाठीचार्ज से नाराज़ मधेसी प्रदर्शनकारियों ने नेपाल पुलिस को खदेड़ा

सोनोली : नेपाल में इन दिनों नो मैंस लैंड पर धरना दे रहे प्रदर्शनकारियों का आज नेपाल पुलिस से झगड़ा हो गया. नेपाल सशस्त्र बल के जवानों पर हजारों की सख्या में मौजूद प्रदर्शनकारियों ने पथराव कर दिया जिससे जवानों को अपनी जान बचा कर वह से भागना पड़ा. इतना ही नहीं आन्दोलनकारी ने नेपाली पुलिस चौकी में घुस कर उसे तहस नहस कर दिया. नेपाल में हालात बिगड़ता देख भारतीय सुरक्षा बलों ने सीमा पर मोर्चा संभाल लिया है.

नो मेंस लैंड का यह धरना प्रदर्शन सद्भावना पार्टी के मुखिया राजेंद्र महतो की अगुवाई में चल रहा है. धरने के दौरान नेपाल पुलिस के द्वारा लाठीचार्ज करने से हालात बिगड़ गए. समान नागरिकता और मधेस प्रदेश के लिए चल रहे आंदोलन को धार देने के लिए महतो ने नेपाल के सभी कस्टम कार्यालयों को ठप करने के लिए आह्वान किया. इसके बाद नेता जी खुद दोपहर में नो मेंस लैंड पर धरना देने पहुंच गए. देखते ही देखते प्रदर्शकारियों की संख्या बढ़ती गई और दो हजार के पर पहुंच गई. धरना देने वालो पर दबाव बनाने के लिए नेपाली पुलिस और सशस्त्र बल के जवानों ने लाठीचार्ज कर दिया.

इससे नाराज आन्दोलनकारियों ने जवानों पर पथराव शुरू कर दिया. सोनौली सीमा पर पहली बार इतनी बड़ी संख्या में पहुंचे आन्दोलनकारियों ने नेपाली पुलिस को खदेड़ कर वह से भागने पर मजबूर कर दिया. इसके बाद भी आन्दोलनकारियों का घुस्सा नहीं थम उन्होंने नेपाली पुलिस चौकी पर धावा बोल कर उसे तहस-नहस कर दिया. नेपाल में बिगड़ी इस हालत को देखते हुए भारत ने अपनी सीमा पर चौकसी बढ़ा दी है. सोनौली पुलिस के साथ ही एसएसबी ने भी मोर्चा संभाल लिया. जवानों ने अपनी ग़श्तो को बड़ा दिया है और लगातार आन्दोलनकारियों पर नजर बनाये हुए है. उनकी यही कोशिश है कि आन्दोलनकारी भारतीय सीमा में न प्रवेश कर सके.