बसंत पंचमी पर ऐसे करेंगे माँ सरस्वती का पूजन तो मिलेगा अपार लाभ

Feb 09 2019 04:00 PM
बसंत पंचमी पर ऐसे करेंगे माँ सरस्वती का पूजन तो मिलेगा अपार लाभ

आप सभी को बता दें कि इस साल 9 और 10 फरवरी 2019 को सरस्वती पूजन का महापर्व बसंत पंचमी मनाया जाने वाला है. ऐसे में इस दिन मां सरस्वती से ज्ञान, विद्या, बुद्धि और वाणी के लिए विशेष वरदान मांगते. कहते हैं श्वेत और पीले फूलों से पूजन किया जता है तो आइए आज हम आपको बताते हैं सरस्वती को प्रसन्न करने के लिए क्या कर सकते हैं इस दिन.

पूजा विधि - आप सभी को पहले तो यह बता दें कि यह पूजा बसंत पंचमी पर विशेष रूप से करें अगर न कर सकें तो किसी भी पुष्य नक्षत्र में प्रारंभ की जा सकती है जिससे आपको वही लाभ होगा. इसी के साथ बसंत पंचमी के शुभ मुहूर्त में किसी शांत स्थान या मंदिर में पूर्व दिशा की ओर मुख करके बैठें अब अपने सामने लकड़ी का एक बाजोट रखें. इसके बाद बाजोट पर सफेद वस्त्र बिछाएं तथा उस पर सरस्वती देवी का चित्र लगाएं और उस बाजोट पर एक तांबे की थाली रखें. ध्यान रहे कि अगर तांबे की थाली न हो, तो आप अन्य पात्र रख सकते हैं. वहीं उस थाली में कुंकुम या केसर से रंगे हुए चावलों की एक ढेरी लगाएं और अब उन चावलों की ढेरी पर प्राण-प्रतिष्ठित एवं चेतनायुक्त शुभ मुहूर्त में सिद्ध किया हुआ 'सरस्वती यंत्र' स्‍थापित करें.

इसके बाद 'सरस्वती' को पंचामृत से स्नान करवाएं और सबसे पहले दूध से स्नान करवाएं, फिर दही से, फिर घी से स्नान करवाएं, फिर शकर से तथा बाद में शहद से स्नान करवाएं. अब केसर या कुंकुम से यंत्र तथा चित्र पर तिलक करें और दूध से बने हुए नैवेद्य का भोग अर्पित करें. इसके बाद अपनी आंखें बंद कर माता सरस्वती का ध्यान करें और सरस्वती माला से निम्न मंत्र की 11 माला मंत्र जाप करें-

ॐ श्री ऐं वाग्वाहिनी भगवती

श्रीन्मुख निवासिनी सरस्वती

ममास्ये प्रकाशं कुरू कुरू स्वाहा:

बसंत पंचमी: पश्चिम बंगाल में बन रही विश्व की सबसे ऊँची सरस्वती प्रतिमा, जानिए इसकी विशेषता

बसंत पंचमी पर राशिनुसार कर लें यह उपाय, बन जाएंगे लखपति

बंसन्त पंचमी पर करें राशि के अनुसार मन्त्रों का जाप, मिलेगा सब कुछ