बांग्लादेश की दो टूक, हमारे आंतरिक मामलों में न बोलें पाक

ढाका : बांग्लादेश ने पाकिस्तान को साफ शब्दों में कहा दिया है कि वो उनके आंतरिक मामलों में दखल न दें। 1971 के बांग्लादेश के युद्ध अपराधियों को सजा दिए जाने पर पाकिस्तान ने अपनी प्रतिक्रिया दी थी, इसके बाद ही बांग्लादेश ने भी अपनी प्रतिक्रिया में पाक को चेताया।

हाल ही में बांग्लादेश ने जमात-ए-इस्लामी के चीफ निजामी को 1971 के युद्ध अपराधों के मामले में मौत की सजा दी थी। पाक ने इस पर गहरी चिंता व्यक्त की थी। बांग्लादेश के विदेश राज्य मंत्री शहरयार आलम ने कहा कि हम पाकिस्‍तान की प्रतिक्रिया से निराश हैं।

कोई भी हमारे अंदरूनी मामलों में दखल दे, हम उसे स्‍वीकार नहीं करेंगे। कई बार ताकीद कराने के बावजूद, वे लगातार ऐसा कर रहे हैं। वे बार-बार कह रहे हैं कि वे सजा के इस फैसले से दुखी हैं। लेकिन जिनके खिलाफ मुकदमा चलाया गया वो बांग्लादेशी नागरिक है।

निजामी पर बुद्धिजीवियों की हत्या की साजिश रचने, मर्डर और रेप के चार्जेज थे। इन्हीं आरोपों में उसे फांसी की सजा दी गई। आलम का कहना है कि पाक का बांग्लादेश के आतंरिक मामलों में दखल देना एक गंभीर मसला है। इससे वो ये संदेश देना चाहते हैं कि युद्ध अपराधियों को उनका समर्थन है। हम इस स्थिति को कतई बर्दाश्त नहीं करेंगे।

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -