एएमयू में बकरीद की दावत रद्द, कश्मीरी छात्र कर रहे थे विरोध

अलीगढ़ः अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय में बकरीद के अवसर पर दी जाने वाली दावत को रद्द कर दिया गया है। यह दावत उन छात्रों के लिए रखा गया था जो ईद पर घर से दूर हैं। जम्मू कश्मीर के राज्यपाल ने इस दावत के लिए एक लाख रुपये की मंजूरी दी थी। दरअसल धारा 370 एवं 35ए के समाप्त होने के बाद जम्मू कश्मीर में कर्फ्यू लगा हुआ है। बीते सात दिन से इंटरनेट, फोन एवं संचार सेवाएं ठप हैं। इसके कारण से यहां पढ़ने वाले छात्रों को अपने परिजनों से संपर्क नहीं हो रहा है। मौजूदा हालात के कारण ईद में छात्र अपने घर नहीं जा सके।

इस कारण सरकार ने ऐसे छात्रों के लिए वहां दावत की तैयारी की थी। 370 व 35 ए खत्म करने के फैसले से भी छात्रों में आक्रोश है। इस लंच की तैयारी भारत सरकार के संपर्क अधिकारी संजय पंडिता ने की थी। सोमवार को एएमयू के न्यू गेस्ट हाउस नंबर 1 में 1:30 बजे से लंच होनी थी, मगर छात्रों के विरोध के कारण रविवार रात्रि में ही लंच का कार्यक्रम रद्द कर दिया गया और गेस्ट हाउस के कर्मचारियों को सूचना दे दी गई।

अधिकारियों का कहना है कि सोमवार सुबह संपर्क अधिकारी संजय पंडिता दिल्ली रवाना हो गए। कश्मीर के छात्र नेता जुबैर अलताफ ने कहा कि यह लंच हमारे जख्मों पर नमक छिड़कने के बराबर थी। इसलिए छात्रों ने उसका बहिष्कार किया था। एएमयू प्रवक्ता प्रो. शाफे किदवई ने कहा कि उस लंच से एएमयू का कोई संबंध नहीं था। छात्रों की नाराजगी भारत सरकार से है। बता दें कि एएमयू में बड़ी संख्या में कश्मीरी छात्र दाखिला लेते हैं।

मध्य प्रदेश के इस पुलिस डॉग ने कई बदमाशों को पहुँचाया जेल, जीते अवार्ड और अब हुआ रिटायर

महाराष्ट्र बाढ़ पीड़ितों की मदद के लिए आगे आया यह बॉलीवुड कपल, दी इतने लाख की रकम

यूपी पुलिस की पहल से 10 साल बाद अपने बेटे से मिली माँ, दृश्य देखकर हर कोई हो गया भावुक

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -