आज है बैकुंठ चतुर्दशी, इस आरती से करें श्री विष्णु को खुश

Nov 29 2020 01:30 PM
आज है बैकुंठ चतुर्दशी, इस आरती से करें श्री विष्णु को खुश

आज बैकुंठ चतुर्दशी है और इस दिन भगवान विष्णु का पूजन किया जाता है। ऐसे में आज हम आपको बताने जा रहे हैं बैकुंठ चतुर्दशी के दिन किस आरती से आप भगवान विष्णु का पूजन कर सकते हैं। जी दरअसल ॐ जय जगदीश हरे, स्वामी! जय जगदीश हरे। वह आरती है जिसे करने से श्रीहरि विष्णु प्रसन्न होकर खुशहाल जीवन का आशीर्वाद देते हैं। 

आइए बताते हैं आरती-

ॐ जय जगदीश हरे

ॐ जय जगदीश हरे, स्वामी! जय जगदीश हरे।
भक्तजनों के संकट क्षण में दूर करे॥

जो ध्यावै फल पावै, दुख बिनसे मन का।
सुख-संपत्ति घर आवै, कष्ट मिटे तन का॥ ॐ जय।।।॥

मात-पिता तुम मेरे, शरण गहूं किसकी।
तुम बिनु और न दूजा, आस करूं जिसकी॥ ॐ जय।।।॥

तुम पूरन परमात्मा, तुम अंतरयामी॥
पारब्रह्म परेमश्वर, तुम सबके स्वामी॥ ॐ जय।।।॥
तुम करुणा के सागर तुम पालनकर्ता।
मैं मूरख खल कामी, कृपा करो भर्ता॥ ॐ जय।।।॥

तुम हो एक अगोचर, सबके प्राणपति।
किस विधि मिलूं दयामय! तुमको मैं कुमति॥ ॐ जय।।।॥
दीनबंधु दुखहर्ता, तुम ठाकुर मेरे।
अपने हाथ उठाओ, द्वार पड़ा तेरे॥ ॐ जय।।।॥

विषय विकार मिटाओ, पाप हरो देवा।
श्रद्धा-भक्ति बढ़ाओ, संतन की सेवा॥ ॐ जय।।।॥

तन-मन-धन और संपत्ति, सब कुछ है तेरा।
तेरा तुझको अर्पण क्या लागे मेरा॥ ॐ जय।।।॥
जगदीश्वरजी की आरती जो कोई नर गावे।
कहत शिवानंद स्वामी, मनवांछित फल पावे॥ ॐ जय।।।॥

पीएम मोदी ने कहा- किस तरह से एक किसान को दिलाया महीनों का बकाया पैसा

अमित शाह ने किए भाग्य लक्ष्मी मंदिर के दर्शन, रोड शो में उमड़ी जनता की भारी भीड़

साउथ कोरिया में कोरोना की तीसरी लहर, पीएम करेंगे अधिकारियों के साथ बैठक