15 मई को खुलेंगे बद्रीनाथ धाम के कपाट, लेकिन मंदिर में नहीं जा सकेंगे श्रद्धालु

देहरादून:  लॉकडाउन के बीच विश्वभर में प्रसिद्ध भगवान बद्री विशाल के कपाट 15 मई को ग्रीष्मकाल के लिए खुलने वाले हैं, जिला प्रशासन ने इसकी तैयारियां पूरी कर ली है.  प्रशासन ने कपट खुलने के मद्देनज़र बद्रीनाथ धाम में बिजली ,पानी और खाद्य व्यवस्थाएं सुचारू कर दी है. हालांकि ऐसा पहली दफा होगा जब मंदिर के कपाट खुलने के बाद भक्त भगवान के दर्शन नहीं कर सकेंगे.

दरअसल कोरोना वायरस के संक्रमण के मद्देनज़र पूरे देश में लॉकडाउन लागू है.  जिसके कारण सभी मंदिरों को बंद किया गया है. हालांकि देवालयों में पुजारियों द्वारा सुबह शाम दोनों समय आरती कराई जा रही है. भगवान बद्री विशाल के कपाट खुलने के बाद पुजारी वहां आरती करेंगे, किन्तु 17 मई से पहले श्रद्धालुओं को आने की अनुमति नहीं दी जाएगी. 

चमोली के डीएम स्वाति एस भदौरिया ने बताया है कि प्रशासन की तरफ से बिजली, पानी और खाद्य सामग्री का इंतज़ाम कर दिया गया है. 15 मई को कपाट खुलने के समय पर भक्तों के लिए दर्शन के लिए मनाही है. मीडिया भी बद्रीनाथ धाम में नहीं जा सकेगा. उन्होंने बताया कि सिर्फ 27 लोगों की टीम ही कपाट खुलने के समय धाम में उपस्थित रहेगी. इस बार देवस्थानम बोर्ड ही बद्रीनाथ धाम में अधिक फैसले लेगा. 

लॉकडाउन में दम तोड़ता बनारस का पान कारोबार, अब तक झेल चुका करोड़ों का नुकसान

देश के दो सबसे बड़े बैंकों ने ग्राहकों को दिया झटका, FD पर घटाई ब्याज दर

आखिर क्यों 'पीएफ' की रकम मिलने में हो सकता है विलंब ?

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -