शराब पीने वालों के लिए बुरी खबर, सरकार ने किया ये बड़ा ऐलान

भोपाल: मध्य प्रदेश के सीएम शिवराज सिंह चौहान ने सोमवार को ऐलान किया कि प्रदेश में पूर्ण शराबबंदी लागू करने वाले किसी भी गांव को 2 लाख रुपये का इनाम दिया जाएगा। मुख्यमंत्री शिवराज राज्य में चल रहे पंचायत चुनाव के दौरान निर्विरोध चुने गए व्यक्तियों को सम्मानित करने के लिए आयोजित एक कार्यक्रम में संबोधित कर रहे थे। मुख्यमंत्री शिवराज ने कहा कि ग्रामीणों को संवाद आरम्भ करके और पूर्ण शराबबंदी को अपनाने के लिए प्रेरक गतिविधियों का आयोजन करके माहौल बनाना चाहिए तथा इन्हें इनाम के तौर पर 2 लाख रुपये दिए जाएंगे। 

साथ ही उन्होंने कहा कि नशा नाश की जड़ है, इसलिए गांव को नशा मुक्त बनाने के लिए आपसी चर्चा एवं विभिन्न प्रेरणास्पद गतिविधियों से वातावरण निर्मित किया जाए। मध्य प्रदेश सरकार ने ऐलान किया है कि जिन पंचायतों में पंच और सरपंच सर्वसम्मति से चुने जाते हैं उन्हें 'समरस पंचायत' कहा जाएगा। 

बता दें कि प्रदेश में चल रहे पंचायत चुनाव के चलते कुल 630 सरपंच, 157 जनपद पंचायत सदस्य और एक जिला पंचायत सदस्य निर्विरोध चुने गए। मुख्यमंत्री शिवराज ने ग्रामीणों से पंचायतों को 'बेटी-फ्रेंडली' बनाने के लिए बोला, साथ ही कहा कि महिलाओं के सम्मान के साथ खिलवाड़ करने वालों को किसी भी कीमत पर छोड़ा नहीं जाएगा। उन्होंने कहा कि लोगों की सेवा, गांव का विकास, आंगनवाड़ी, स्कूल, सामुदायिक भवन को सुगमता से चलाने के इलाके में समरस पंचायतों का कार्य पूरे देश के लिए एक उदाहरण बनना चाहिए। उन्हें यह सुनिश्चित करना चाहिए कि कोई भी बच्चा कुपोषित न रहे। साथ ही मुख्यमंत्री ने कहा कि समरस पंचायतों को अपनी प्राथमिकता तय कर कार्य करना होगा। हम यह प्रण लें कि गांव में कोई लड़ाई-झगड़ा नहीं होगा। अगर कोई विवाद होता है तो उसे बातचीत से सुलझाया जाएगा, जिससे हम अपना वक़्त और पैसा कोर्ट-कचहरी में बर्बाद नहीं होने देंगे।  

गुजरात दंगा: हिंसा पीड़ितों के नाम पर फंड जुटाकर खुद खा गई तीस्ता सीतलवाड़, करीबी ने किया खुलासा

ED के समन के बाद भी पेश नहीं होंगे संजय राउत, कहा था - मुझे गिरफ्तार करो

सोनिया गांधी के PA ने किया दलित विधवा का बलात्कार, दिल्ली पुलिस ने दर्ज की FIR

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -