कर्ज के बोझ तले दबी रूचि सोया की मदद को आगे आई पतंजलि, लगाई 4350 करोड़ की बोली

Mar 14 2019 02:47 PM
कर्ज के बोझ तले दबी रूचि सोया की मदद को आगे आई पतंजलि, लगाई 4350 करोड़ की बोली

मुंबई: कर्ज के बोझ तले दबी देश की सबसे बड़े सोयाबीन उत्पादक कंपनी रुचि सोया को बाबा रामदेव की पतंजलि आयुर्वेद काफी समय से खरीदने का प्रयास कर रही है. इस कंपनी के लिए पतंजलि ने अपनी बोली 200 करोड़ रुपये अधिक कर दी है. दरअसल, रुचि सोया के पास सोयाबीन के लिए सबसे बड़ा ढांचा है. रूचि सोया कंपनी के मुख्य ब्रांडों में न्यूट्रीला, महाकोश, सनरिच, रुचि स्टार और रुचि गोल्ड शामिल हैं.

इस कारण आने वाले दिनों में महंगे हो सकते हैं टायर ट्यूब

पतंजलि के प्रवक्ता एस के तिजारावाला ने बताया है कि, ‘‘हम रुचि सोया को संकट से निकालने के लिए प्रतिबद्ध हैं.  हमने रुचि सोया के लिए अपनी बोली 4,160 करोड़ रुपये से बढ़ाकर 4,350 करोड़ रुपये कर दी है. ’’ प्रवक्ता ने कहा है कि हमने यह निर्णय किसानों और उपभोक्ताओं समेत सभी अंशधारकों के हित को ध्यान में रखकर लिया है. सूत्रों ने बताया है कि कर्जदाताओं की समिति (सीओसी) अगले हफ्ते पतंजलि की संशोधित प्रस्ताव पर विचार करेगी. उल्लेखनीय है कि रुचि सोया पर लगभग 12,000 करोड़ रुपए का कर्ज है. 

16 पैसे की बढ़त के साथ 69.54 के स्तर पर बंद हुआ रुपया

पतंजलि से पहले अडानी विल्मर ने गत वर्ष रुचि सोया को खुली बोली प्रक्रिया के माध्यम से खरीदा था. अडानी विल्मर ने यह डील लगभग 6 हजार करोड़ रुपये में की थी, किन्तु बाद में कंपनी ने खरीद प्रक्रिया में देरी बताते हुए पीछे हटने का निर्णय लिया था. अडानी विल्मर भारतीय व्यवसायी गौतम अडानी और सिंगापुर की कंपनी विल्मर इंटरनेशनल का ज्‍वाइंट वेंचर है. 

खबरें और भी:-

बाजार की शुरुआती के साथ ही सेंसक्स में नजर आई 124.75 अंकों की मजबूती

डॉलर के मुकाबले रुपये में नजर आई 3 पैसे की मजबूती, इस स्तर पर खुला

शुरुआत के साथ ही सेंसेक्स में नजर आयी 150.23 अंकों की मजबूती