JNU में बाबा रामदेव के योग शिविर से छात्रों को कोई आपत्ति नहीं

नई दिल्ली : जेएनयू विवाद के बाद से सभी इस पर अपने-अपने तरीके से अपने विचार रख रहे है। अब योगगुरु रामदेव बाबा जेएनयू कैंपस में योग शिविर लगाना चाहते है। इससे भी अच्छी बात ये है कि इस पर यूनिवर्सिटी के छात्र संघ को कोई आपत्ति नहीं है। बाबा रामदेव के मुख्य प्रवक्ता एस के तिजारवाला ने कहा कि बाबाजी चाहते है कि जेएनयू में योग शिविर लगाया जाए।

इससे वहां के छात्रों को स्वास्थय लाभ के साथ-साथ विचारों में भी सकारात्मकता लाने में मदद मिलेगी। बाबा स्वंय जेएनयू में योग सिखाएंगे। हांलाकि अब तक इसका पूरा प्लान तैयार नहीं किया गया है। इससे पहले भी एक बार बाबा जेएनयू जाने की कोशिश कर चुके है, जिसके कारण वो विरोध झेल चुके है।

उनके प्रवक्ता ने कहा कि हम छात्रों, बच्चों और बड़ों के साथ हर उम्र के लोगों को योग की ट्रेनिंग देते हैं। योग की क्लासेज जेलों में भी चलाई गई हैं। समाज के हर वर्ग को योग से जोड़ने की कोशिश की जा रही है। इससे पहले बाबा को वेदांत और आयुर्वेद विषय पर बोलने के लिए आमंत्रित किया गया था, जिसका छात्रों ने जमकर विरोध किया था।

इस पर बाबा के प्रवक्ता ने कहा कि पिछली बार जो कार्यक्रम तय किया गया था, उस संबंध में पहले से जानकारी नहीं थी और न ही बाबा ने वहां जाने के लिए हाँ की थी। इस योग शिविर पर जेएनयू छात्र संघ की उपाध्यक्ष शेहरा राशिद का कहना है कि यदि वो व्यक्तिगत तौर पर योगगुरु बनकर आते है, तो हमें कोई आपत्ति नहीं। पिछली बार वो मुख्य वक्ता बनकर आ रहे थे, जिस पर छात्रों ने ऐतराज जताया था।

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -