बुलंदशहर मामले में पलटें आजम खान, पीड़ित के परिजन ने कहा 'पागल'

लखनऊ : समाजवादी पार्टी सरकार में मंत्री आजम खान बुलंदशहर गैंगरेप मामले में दिए अपने ही बयान से मुकर गए है। उन्होने इस अमानवीय घटना को राजनीतिक साजिश करार दिया था। उनके इस बयान की चौतरफा निंदा होने के बाद अब वो इस बयान से पलट गए है। पार्टी के शीर्ष नेतृत्व भी उनके इस बयान से खफा है।

उधर पीड़ित के परिजन आजम को पागल कह रहे है। आजम का कहना है कि उन्होने ऐसा कोई बयान नहीं दिया है। उल्टे वो इसकी गहन जांच की बात कह रहे है। उनके इस बयान को लेकर पार्टी आलाकमान उन्हें तलब कर सकते है। मंगलवार को आजम ने कहा कि मैंने कहा था कि उत्‍तर प्रदेश में चुनाव नजदीक हैं और इस तरह की बहुत सी घटनाएं हो रही हैं।

ऐसे में इनकी जांच की जानी चीहिए। यह हमारी जिम्‍मेदारी है कि हम सख्‍ती से इस घटना से निपटें। आजम ने कहा कि वो पीड़ित परिवार के दर्द को लेकर बेहद संवेदनशील है। सब मिलकर भी पीड़‍ित परिवार के जितना साथ नहीं है, मैं निजी रूप से उससे ज्‍यादा उनके साथ हूं। दूसरी ओर बीजेपी के यूपी अध्यक्ष केशव प्रसाद मौर्या इस मामले की सीबीआई जांच की मांग कर रहे है।

पीड़ित परिवार से मिलने खोड़ा पहुंचे मौर्या ने कहा कि बीजेपी उनके साथ है, उनका दर्द हमारा दर्द है। यूपी सरकार और मुख्‍यमंत्री अखिलेश यादव पर हमला बोलते हुए उन्होने कहा कि हो सकता है कि सीएम अखिलेश एक जिले का प्रबंधन करने के लिए फिट हों, लेकिन पूरे राज्‍य के लिए वह फिट नहीं हैं।

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -