अपनों के बीच ही 'अकेले' पड़े अखिलेश यादव, आज़म-राजभर और शिवपाल नहीं दे रहे साथ

लखनऊ: जेल से जमानत पर छूटकर बाहर आए समाजवादी पार्टी (सपा) के वरिष्ठ नेता और मौजूदा विधायक आजम खान ने सोमवार को विधायक पद की शपथ ग्रहण की, मगर सपा मुखिया अखिलेश यादव से दूरी बनाए रखी। आजम खान विधानसभा की कार्यवाही में शामिल होने की जगह वापस रामपुर आ गए। वहीं, आजम खान के बेटे अब्दुल्ला आजम से लेकर शिवपाल यादव और ओम प्रकाश राजभर की पार्टी के MLA विधानसभा की कार्यवाही में उपस्थित तो रहे, किन्तु योगी सरकार के खिलाफ सदन में सपा के विरोध प्रदर्शन में शामिल नहीं हुए। 

दरअसल, सपा प्रमुख अखिलेश यादव के नेतृत्व में पार्टी विधायक और विधान परिषद सदस्यों ने किसानों को सस्ती बिजली dene, विपक्ष के लोगों पर झूठे केस न लगाने, शिक्षा और सिंचाई सस्ती करने की मांग को लेकर विरोध प्रदर्शन किया। अखिलेश की उपस्थिति में सपा नेता जोश में नजर आए, मगर सहयोगी दलों का सहयोग सपा को नहीं मिल सका। सपा के साथ RLD के विधायक तो मौजूद रहे, किन्तु ओम प्रकाश राजभर की भारतीय सुहेलदेव समाज पार्टी (सुभासपा) के MLA इस प्रदर्शन में शामिल नहीं हुए।  

बता दें कि आजम खान के साथ ही उनके बेटे अब्दुल्ला आजम खान ने भी सोमवार विधायक पद की शपथ ग्रहण की। वह आजम की तरह रामपुर तो नहीं लौटे, मगर सदन में चुपचाप बैठे रहे। वह सपा विधायकों के साथ योगी सरकार के विरुद्ध नारेबाजी में शामिल नहीं हुए।  वहीं, आजम खान शपथ लेने के बाद रामपुर वापस चले गए, जबकि उनकी कुर्सी सदन में अखिलेश के बगल में लगी थी। 

'हर सिख आधुनिक हथियार रखे...', अकाल तख़्त के जत्थेदार के बयान पर मचा बवाल, सख्त हुए भगवंत मान

प्रियंका गाँधी को राज्यसभा भेजना चाहती है कांग्रेस, जानिए क्या है पार्टी का प्लान ?

CM नीतीश ने सुनाया कॉलेज के दिनों का जबरदस्त किस्सा, बोले- 'जब कोई महिला आ जाती तो....'

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -