सुन्नी सेंट्रल वक्फ बोर्ड की 24 फरवरी को अहम बैठक, इस जमीन पर लिया जा सकता फैसला

Feb 15 2020 03:13 PM
सुन्नी सेंट्रल वक्फ बोर्ड की 24 फरवरी को अहम बैठक, इस जमीन पर लिया जा सकता फैसला

काफी लंबे समय से कानूनी दौर से गुजरने के बाद अयोध्या में राम मंदिर के निर्माण के लिए ट्रस्ट के गठन के बाद उत्तर प्रदेश सरकार के मस्जिद के लिए पांच एकड़ भी दी है. इन दोनों फैसलों के बाद अब लोगों की निगाह उत्तर प्रदेश सुन्नी सेंट्रल वक्फ बोर्ड पर टिकी हैं. मस्जिद के लिए जमीन मिलने के बाद सुन्नी वक्फ बोर्ड अयोध्या के रौनाही में जमीन के बारे में जल्दी ही फैसला लेगा.

Love Aaj Kal Box Office : सारा-कार्तिक की फिल्म ने पहले दिन कमाए इतने करोड़

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार सुन्नी वक्फ बोर्ड चेयरमैन जुफर फारुकी ने मस्जिद के लिए जमीन लेने के फैसले को लेकर 24 फरवरी को एक बुलाई है. लखनऊ में होने वाली इस बैठक में जमीन को लेकर बोर्ड के सदस्य फैसला करेंगे. बोर्ड की होने वाली बैठक में फैसला होगा कि उसे जमीन लेनी है या नहीं. उत्तर प्रदेश सुन्नी सेंट्रल वक्फ बोर्ड के चेयरमैन जुफर फारुकी ने कहा कि पहले पूर्ण रूप से जमीन हमे मिले तो उसके बाद हम आगे की रूपरेखा तय करेंगे. इस बैठक में हम तय करेंगे कि मिली जमीन पर क्या निर्माण किया जाएगा मस्जिद, हॉस्पिटल, या फिर स्कूल. 

CAA Protest: कमज़ोर पड़ता जा रहा 'शाहीनबाग़' का आंदोलन, बुलाने के बाद भी नहीं पहुँच रहे लोग

सत्ताधारी योगी आदित्यनाथ सरकार के मस्जिद के लिए जमीन देने की घोषणा के बाद ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड क्यूरेटिव पेटीशन दाखिल करने का मन बना रहा है. इस बैठक में सरकार की ओर से मस्जिद के लिए मिली पांच एकड़ जमीन पर सुन्नी वक्फ बोर्ड सदस्यों से चर्चा के बाद निर्णय लेगा कि इस जमीन को कैसे प्रयोग में लाना है, इसके लिए बोर्ड ने 24 फरवरी को सुन्नी वक्फ बोर्ड के दफ्तर में सभी 8 सदस्यों की बैठक बुलाई है.

टोयोटा की ये दो गाड़िया भारत में हुई बंद, जाने वजह

'हर दिन घर में बनता है नॉनवेज... ' लव मैरिज के 6 महीने बाद पत्नी ने माँगा तलाक़

भारत में लौट आया छूआछूत का दौर, गिरिराज द्वारा माल्यार्पण के बाद अंबेडकर प्रतिमा को धोया