अयोध्या मामले को लेकर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई आज

नई दिल्ली : सुप्रीम कोर्ट आज यानि बुधवार को तय कर सकता है कि राम जन्मभूमि-बाबरी मस्जिद जमीन विवाद के मामले को मध्यस्थता के लिए भेजा जाए या नहीं? सुप्रीम कोर्ट ने पिछली सुनवाई पर सभी पक्षकारों को बातचीत के जरिये विवाद सुलझाने का सुझाव दिया था। चीफ जस्टिस रंजन गोगोई की अध्यक्षता वाली पांच सदस्यीय संविधान पीठ ने मंगलवार कहा था कि अगर एक फीसदी भी गुंजाइश हो तो मामला बातचीत के जरिये सुलझाने का प्रयास करना चाहिए। 

श्री अन्‍नपूर्णा धाम में पूजा-अर्चना करने पहुंचे पीएम मोदी, बोले- आध्यात्मिकता ने राष्ट्र को चलाया है

सभी वकीलों का ऐसा है मानना 

सूत्रों से प्राप्त जानकारी के अनुसार इस पर मुस्लिम पक्षकारों के वकील ने कहा था कि अगर अदालत चाहती है तो वह प्रयास कर सकते हैं। वह इसका विरोध नहीं करेंगे। वहीं, रामलला विराजमान के वकील सीएस वैद्यनाथन ने कहा कि पहले भी मध्यस्थता का प्रयास हुआ था, लेकिन कोई फायदा नहीं हुआ। अन्य हिंदू पक्षकार के वकील रंजीत कुमार ने भी कहा था कि अब मध्यस्थता संभव नहीं है। ऐसे में आगे सुनवाई होनी चाहिए। 

विश्व की सबसे प्रदूषित राजधानीयों में शीर्ष स्थान पर दिल्ली

ऐसे निकल सकता है रास्ता 

जानकारी के लिए बता दें वैद्यनाथन के मध्यस्थता की गुंजाइश नहीं होने की बात पर कोर्ट ने कहा था कि हम आपकी मर्जी के बिना कुछ नहीं करेंगे। अगली सुनवाई में दोनों पक्षकार बताएं कि क्या कोई रास्ता निकल सकता है। बहरहाल, बुधवार को देखना होगा कि पीठ इस पर क्या निर्णय लेती है। बता दें पिछले कई सालों से आयोध्या मामला सुप्रीम कोर्ट में है जिस पर समय-समय पर सुनवाई होती रहती है. 

Oppo और Vivo ने अपने इन दो हैंडसेट की कीमतों में की भारी कटौती

हैक हुआ बिग बॉस की इस एक्स कंटेस्टेंट का इंस्टाग्राम अकाउंट

पंजाब में डम्पर से टकराई भरी बस, 20 घायल कई गंभीर

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -