अयोध्या मामले में मुस्लिम पक्षकारों की बहस पूरी

नई दिल्ली : अयोध्या मामले को बड़ी पीठ के पास भेजे जाने के मुद्दे पर मुस्लिम पक्षकारों की ओर से कल मंगलवार को दलीलें पूरी हो गईं हालाँकि इस दौरान मुस्लिम पक्षकारों ने मामले के लंबित होने पर भी हिंदू पक्षकारों और संगठनों द्वारा की जा रही बयानबाजी को आपत्तिजनक माना .

उल्लेखनीय है कि चीफ जस्टिस दीपक मिश्रा की अध्यक्षता वाली तीन सदस्यीय विशेष पीठ इस मामले की सुनवाई कर रही है. जहाँ मुस्लिम पक्षकारों के वकील राजीव धवन ने इस बात पर आपत्ति ली कि हिंदू पक्ष की तरफ से बयानबाजी की जा रही है,यह अवमानना की तरह है. जबकि उनके पक्षकार ने अनुशासन रखा है. इस संवेदनशील मामले को लेकर कोई निर्णय लेना उचित नहीं है.धवन ने 1994 के इस्माइल फारूखी मामले का उल्लेख किया जिसमें सुप्रीम कोर्ट ने कहा था कि मस्जिद में नमाज पढ़ना इस्लाम धर्म का अभिन्न हिस्सा नहीं है. पहले यह फैसला लिया जाए कि इस मामले को बड़ी पीठ के पास भेजा जाए या नहीं .

बता दें कि कल 17 मई को मामले की अगली सुनवाई होगी. इसमें हिंदू पक्षकारों की ओर से दलीलें पेश की जाएगी. इसके बाद मामले को संविधान पीठ को भेजे जाने के मुद्दे पर सुप्रीम कोर्ट अपना निर्णय सुरक्षित रखे जाने की संभावना है.

यह भी देखें

जनकपुर से अयोध्या पहुंची बस का हुआ भव्य स्वागत

चाँद-तारे वाले हरे झंडे को बैन करे SC - वसीम रिजवी

 

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -