ऑस्ट्रेलिया लगा सकता है स्मिथ-वॉर्नर पर लाइफ बैन?

दिल्ली: दक्षिण अफ्रीका और ऑस्ट्रेलिया के बीच केपटाउन में खेले गए तीसरे टेस्ट में बॉल टेंपरिंग की घटना ने पूरे क्रिकेट विश्व को हिलाकर दिया है. क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया ने इस मामले में जांच के आदेश दिए हैं. बोर्ड के नियमों के मुताबिक, अगर कोई भी खिलाड़ी खेल को उसके आदर्शों के खिलाफ खेलता हुआ पाया जाता है. तो नियम 42 के मुताबिक उस पर लाइफ बैन तक लग सकता है. हालांकि, इस नियम के तहत दी जाने वाली ये अधिकतम सज़ा है. लाइफ बैन, की गई हरकत और परिस्थितियों को देखते हुए लगाया जाता है. गेंद से छेड़छाड़ का मामला ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेट के नियमों में 2.2.8 धारा के अंतर्गत आता है.


ऑस्ट्रेलियाई कप्तान स्टीव स्मिथ पर आईसीसी की तरफ से 1 मैच का बैन लगाया गया है, वहीं उनपर 100 प्रतिशत मैच फीस का भी जुर्माना लगा है. इसके अलावा क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया ने स्मिथ को कप्तानी से भी हटा दिया है. हालांकि, भारतीय क्रिकेटर हरभजन सिंह समेत कई क्रिकेट दिग्गजों की माने तो ये सज़ा काफी कम है. 

हरभजन ने इसको लेकर आईसीसी की मंशा पर भी सवाल उठाए हैं. दूसरी तरफ अगर क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया के नियमों को ही देख लें तो उसके मुताबिक स्टीव स्मिथ और कैमरन बेनक्रॉफ्ट पर काफी कड़ी कार्रवाई हो सकती है. हरभजन ने कहा है, 'वाह आईसीसी. अद्भुत फैसला और गजब की निष्पक्षता दिखाई. सारे सबूत बैनक्रॉफ्ट के खिलाफ होने के बावजूद उस पर कोई बैन नहीं लगाया. 2001 में तो हमारे छह खिलाड़ियों के खिलाफ कोई सबूत न होने के बावजूद ज्यादा अपील करने पर बैन लगाया था. और 2008 का सिडनी टेस्ट याद है? गलती नहीं पाई गई, फिर भी तीन मैचों के लिए बैन लगाया. आपके पास अलग-अलग लोगों के लिए अलग-अलग नियम हैं.'

IPL2018 : अब तेरा क्या होगा स्मिथ ?

खेलो इंडिया के कई पदक विजेता डोप टेस्ट में नाकाम

बॉल टेम्परिंग: आईसीसी के पक्षपात से नाखुश हरभजन

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -