क्या आपके मोबाइल में भी इंस्टॉल हैं ये ऐप तो जल्दी से कर दें डिलीट, वरना होगा भारी नुक्सान

ज्यादातर व्यक्ति नियमित तौर पर इंटरनेट का इस्तेमाल कर रहे हैं, ऐसे में मोबाइल फोन को प्रभावित करने वाले भयंकर मैलवेयर की घटनाएं तेज रफ़्तार से बढ़ रही हैं। इस मध्य खतरनाक जोकर मैलवेयर वापस आ गया है तथा कथित रूप से गूगल प्ले स्टोर के जरिए छिपने में सफल रहा है। यह पहली बार नहीं है जब हम जोकर मैलवेयर के बारे में सुन रहे हैं। जोकर जैसे ज्यादातर मैलवेयर स्मार्टफोन उपयोगकर्ता को प्रभावित करने तथा उनके निजी डेटा को चुराने, चैट तथा दूसरे ऐप्स पर जासूसी करने एवं कभी-कभी डेबिट एवं क्रेडिट कार्ड विवरण जैसे स्टोर्ड फाईनेंशियल डिटेल चुरा लेने की क्षमता के साथ आते हैं।

बीते उदाहरणों की भांति जोकर मैलवेयर फिर से गूगल प्ले स्टोर के जरिए फैलने में सफल रहा है। साइबर सुरक्षा विशेषज्ञों ने पाया है कि मैलवेयर प्ले स्टोर पर कुल 11 एंड्रॉइड ऐप के जरिए फैल गया है। यह सबसे पहले ZDNet द्वारा रिपोर्ट किया गया था। इन्फेक्टेड ऐप में ट्रांसलेट फ्री, पीडीएफ कन्वर्टर स्कैनर, फ्री एफ्लुएंट मैसेज, डीलक्स कीबोर्ड जैसे ऐप सम्मिलित हैं।

वही रिसर्चर्स ने पता लगाया है कि ये ऐप 30,000 से ज्यादा इंस्टॉल प्राप्त करने में सफल रहे हैं। ऐसे ऐप्स के बारे में बताया जाता है कि वे वित्तीय धोखाधड़ी करते हैं। Zscaler’s ThreatLabz के एक्सपर्ट्स ने यह भी पाया है कि ये ऐप अक्सर उपयोगकर्ताओं को प्रोडक्टिविटी, कम्यूनिकेशन तथा अन्य कामों के लिए आवश्यक फीचर्स का लालच देकर धोखा देते हैं। रिपोर्ट बताती है कि गूगल ने इन सभी 11 ऐप्स को प्ले स्टोर से हटा दिया है।

निक्की तंबोली को देख सलमान ने पूछा सवाल- तुम वो नहीं हो जो बिग बॉस में थीं, एक्ट्रेस ने दिया ये जवाब

मां नीना की ऑटोबायोग्राफी 'सच कहूं तो' रिलीज होने के बाद बेटी मसाबा को पता चली थी ये बड़ी बात

कर्नाटक के सीएम येदियुरप्पा ने प्रभारी को राहत और बचाव कार्यों की निगरानी करने का दिया निर्देश

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -